Begin typing your search above and press return to search.

You Searched For "section 138 ni act"

एनआई अधिनियम की धारा 138 – एक व्यक्ति को चेक के अनादर के अपराध के लिए केवल इसलिए दोषी नहीं ठहराया जा सकता है क्योंकि वह उस फर्म का भागीदार था या गांरटर था: सुप्रीम कोर्ट

एनआई अधिनियम की धारा 138 – एक व्यक्ति को चेक के अनादर के अपराध के लिए केवल इसलिए दोषी नहीं ठहराया जा सकता है क्योंकि वह उस फर्म का भागीदार था या गांरटर था: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने सोमवार को कहा कि किसी व्यक्ति को नेगोशिएबल इंस्ट्रूमेंट्स एक्ट (NI Act) की धारा 138 के तहत चेक के अनादर के अपराध के लिए केवल इसलिए दोषी नहीं ठहराया जा सकता है क्योंकि व...

10 May 2022 4:18 AM GMT
परिसीमा अवधि के विस्तार के दौरान एन आई एक्ट 138 के तहत दर्ज शिकायतें प्री -मेच्योर नहीं : गुरुग्राम बार ने मांगा सुप्रीम कोर्ट से स्पष्टीकरण का आग्रह किया

परिसीमा अवधि के विस्तार के दौरान एन आई एक्ट 138 के तहत दर्ज शिकायतें प्री -मेच्योर नहीं : गुरुग्राम बार ने मांगा सुप्रीम कोर्ट से स्पष्टीकरण का आग्रह किया

गुरुग्राम डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन ने नेगोशिएबल इंस्ट्रूमेंट्स एक्ट, 1881 की धारा 138 के प्रावधान (बी) और (सी) के लिए परिसीमा अवधि को निलंबित करने वाले अदालत के आदेशों की व्याख्या के बारे में...

2 March 2022 4:58 AM GMT