Top

You Searched For "ऋण की प्रकृति"

एनआई अधिनियम की धारा 138: नोटिस में ऋण की प्रकृति और देनदारी के बारे में कुछ नहीं बताने से नोटिस व्यर्थ नहीं हो जाता है : केरल हाईकोर्ट [आर्डर पढ़े]

एनआई अधिनियम की धारा 138: नोटिस में ऋण की प्रकृति और देनदारी के बारे में कुछ नहीं बताने से नोटिस व्यर्थ नहीं हो जाता है : केरल हाईकोर्ट [आर्डर पढ़े]

केरल हाईकोर्ट ने कहा है कि एनआई की धारा 138 के तहत दिए गए नोटिस में ऋण या देनदारी के बारे में बताने से चूकने के कारण नोटिस अमान्य नहीं हो जाता है। न्यायमूर्ति आर नारायण पिशारदी ने कहा कि इस बात की...

1 Jun 2019 7:43 AM GMT