Top
आरटीआई

अब जनता के लिए होगा राज्य सूचना आयोग की सुनवाइयों का सीधा प्रसारण: राज्य सूचना आयुक्त श्री राहुल सिंह की पहल

Shahadat
17 Oct 2020 4:35 AM GMT
अब जनता के लिए होगा राज्य सूचना आयोग की सुनवाइयों का सीधा प्रसारण: राज्य सूचना आयुक्त श्री राहुल सिंह की पहल
x

अर्ध-न्यायिक निकायों की न्यायिक कार्य-व्यवस्था के इतिहास मे सर्वप्रथम बार ऐसी व्यवस्था की शुरुआत की गई है जिसके तहत आयोग द्वारा मामलों की सुनवाइयों का सीधा प्रसारण जनता के लिए उपलब्ध करवाया जाएगा।

* क्या है ये पहल *

मध्य-प्रदेश राज्य सूचना आयोग, भोपाल मैं पीठासीन राज्य सूचना आयुक्त, श्री राहुल सिंह द्वारा एक ऐतिहासिक व अनूठा कदम उठाया गया है जिसके अंतर्गत श्री राहुल सिंह द्वारा मामलों की सुनवाइयों का सीधा प्रसारण, उनके निजी फेसबुक पेज पर किया जा रहा है।

सिर्फ यही नही, बल्कि श्री राहुल सिंह द्वारा, प्रत्येक रविवार को, अपने फेसबुक के माध्यम से जनता को सूचना के अधिकार से अवगत कराने तथा जनता के शंकाओं-सवालों का समाधान करने के लिए मीटिंग का सफलतापूर्वक संचालन किया जा रहा है। जिसके तहत लोगों को सूचना के अधिकार के महत्व तथा उपयोगों के बारे मैं भी सिखाया जा रहा है।

*क्या उद्देश्य है इन प्रयासों के पीछे*

राहुल सिंह द्वारा उठाया गया ये नवपरिवर्तनकारी कदम अपने आप में एक ठोस सुधारवादी प्रयास है जिसके माध्यम से जनता और आयोग के मध्य पारदर्शिता को सुनिश्चित किया जा रहा है और सूचना का अधिकार अधिनियम के उद्देश्यों का प्रभावी रूप से कार्यान्वयन किया जा रहा है।

श्री राहुल सिंह से बात करने पर मालूम हुआ कि इन प्रयासों के पीछे मुख्य उद्देश्य पारदर्शिता सुनिश्चित करने के साथ-साथ, जनता की सुनवाइयों मैं सक्रिय हिस्सेदारी को बढ़ावा देना तथा मामलों का शीघ्रता से निपटारा करना भी है।

श्री सिंह ने यह भी बताया की अक्सर अपीलार्थी तथा प्रतिवादी द्वारा सुनवाई मैं पक्षपात होने के आरोप लगाए जाते थे जो कि अब सुनवाई का सीधा प्रसारण करने की व्यवस्था लागू होने के बाद से पूर्ण रूप से खत्म किये जा सकेंगे।

*क्या है जनता की प्रतिक्रिया*

अभी तक देखा जाए तो श्री राहुल सिंह द्वारा, फेसबुक पेज के माध्यम से आयोग द्वारा संचालित की गईं 25 से भी ज्यादा विभिन्न मामलों की सुनवाई का सीधा प्रसारण जनता के लिए उपलब्ध करवाया जा चुका है जिसके प्रतिक्रिया मैं जनता की ओर से भी सकारात्मक प्रति-पुष्टि और हर तरह से सराहना की जा रही है।

पूर्व केंद्रीय सूचना आयुक्त, श्री शैलेश गांधी ने अपने ट्विटर एकाउंट के माध्यम से श्री राहुल सिंह के इस प्रयास की जम कर तारीफ तो की ही बल्कि यह भी कहा की ये अपने आप मैं एक ऐतिहासिक उपलब्धि है।

सतना के गोविंद फेसबुक पर कहते हैं कि "राहुल सर द्वारा प्रारम्भ की गई ये पहल अत्यंत लाभकारी है, आज तक किसी भी अधिकारी ने जनता के प्रति इतना समर्पण नही दिखाया है।"

वहीं दूसरे राज्यों के लोगों द्वारा भी फेसबुक पेज पर इस प्रयास की तारीफ़ भर भर कर की जा रही हैं तो कुछ लोग यह मांग भी कर रहे हैं कि उनके राज्य मैं भी ऐसी कोई व्यवस्था जल्द से जल्द शुरू की जानी चाहिए।

श्री राहुल सिंह के फेसबुक पेज से अभी तक दो हज़ार से भी अधिक लोग जुड़ चुके हैं और लगातार इस संख्या मैं इज़ाफा होता जा रहा है।

*नवीन व्यवस्था से जुड़ी कुछ रोचक बातें*

इस नवीन व्यवस्था की सबसे खास बात यह है कि ये संपूर्ण भारतवर्ष में मध्यप्रदेश राज्य सूचना आयोग ऐसा पहला आयोग है जिसके द्वारा ये ठोस व बदलाव-पूर्ण कदम उठाया गया है।

इस पहल की शुरुआत सर्वप्रथम श्री राहुल सिंह जी द्वारा 19 अगस्त 2020 को की गई थी जिसके अंतर्गत रीवा पंचायत मैं हुए टैक्स-घोटाला से संबंधित मामले की सुनवाई का सीधा प्रसारण उनके ही फेसबुक पेज से सफलतापूर्वक किया गया था।

श्री सिंह द्वारा सिर्फ इतना ही नही, बल्कि लगातार इस बात पर भी जोर दिया जा रहा है की कैसे सरकारी कार्यप्रणाली को जनता के प्रति और पारदर्शी तथा लोगों को कैसे अपने अधिकारों के प्रति और सजग बनाया जा सकता है।

Next Story