Top
मुख्य सुर्खियां

"अक्षय कुमार के खिलाफ आरोप अन्य लोगों द्वारा पोस्ट की गई सामग्री पर आधारित थे" : यू-ट्यूबर ने अभिनेता द्वारा भेजे गए 500 करोड़ के मानहानि नोटिस को वापस लेने को कहा

LiveLaw News Network
21 Nov 2020 8:09 AM GMT
अक्षय कुमार के खिलाफ आरोप अन्य लोगों द्वारा पोस्ट की गई सामग्री पर आधारित थे : यू-ट्यूबर ने अभिनेता द्वारा भेजे गए 500 करोड़ के मानहानि नोटिस को वापस लेने को कहा
x

अभिनेता अक्षय कुमार द्वारा सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में उन पर आरोप लगाने वाली सामग्री पोस्ट करने के लिए 25 वर्षीय यू-ट्यूबर रिजवान सिद्दीकी को भेजे गए 500 करोड़ रुपये के मानहानि नोटिस के जवाब में यू-ट्यूबर ने सभी आरोपों से इनकार किया है। यू-ट्यूबर ने अभिनेता अक्षय कुमार से यह नोटिस इस आधार पर वापस लेने का आग्रह किया यह त्रुटिपूर्ण आधार पर भेजा गया है।

यू-ट्यूबर ने खुद का बचाव करते हुए कहा कि उनके चैनल पर पोस्ट की गई सामग्री का अधिकांश हिस्सा सुशांत सिंह के मामले में अक्षय कुमार के खिलाफ पहले से ही सार्वजनिक डोमेन में था और यू-ट्यूब पर अन्य चैनलों द्वारा पोस्ट किया गया था।

सिद्दीकी की ओर से एडवोकेट जेपी जायसवाल ने दाखिल किए गए जवाब में कहा-

"वेबसाइट पर सामग्री प्रकाशित करने से पहले इंटरनेट पर पहले से ही इस तरह की सामग्री मौजूद थी। आपके क्लाइंट के बारे में सार्वजनिक डोमेन में पहले से ही ये सामग्री मौजूद थी। मेरे क्लाइंट ने इन वेबसाइटों से लीड लेकर सामग्री बनाई है और इन्हें सच मानकर चैनल पर वीडियो पब्लिश किए हैं।"

उन्होंने कहा,

"मेरे क्लाइंट के पास समान सामग्री प्रकाशित करने वाली वेबसाइटों की एक विस्तृत सूची है, जो मेरे क्लाइंट द्वारा कथित सामग्री को ऑनलाइन प्रकाशित करने से बहुत पहले ही नेट पर मौजूद थी। आपके क्लाइंट का उल्लेख करने वाली सभी सामग्री पहले से ही सार्वजनिक डोमेन में थी और चैनल पर इसी तरह की सामग्री को प्रकाशित करना आपके क्लाइंट की मानहानि के दायरे में नहीं आएगा।"

इसके बाद उत्तर में यह भी उल्लेख किया गया है कि समाचार चैनलों के अलावा कई "स्वतंत्र पत्रकारों" ने सुशांत सिंह मामले पर रिपोर्टिंग शुरू की।

जवाब में कहा गया,

"मेरे मुवक्किल के खिलाफ लगाए गए आरोपों का खंडन किया जाता है। मेरे मुवक्किल द्वारा दी गई उपरोक्त सभी जानकारी / सामग्री पूरी तरह से अफवाहों और स्रोतों पर आधारित है, जिसका उल्लेख मेरे मुवक्किल द्वारा चैनल पर उनके द्वारा अपलोड किए गए वीडियो में भी किया गया है।"

इसके अलावा, अन्य कंटेंट क्रिएटर का जिक्र करते हुए जो सुशांत सिंह राजपूत मामले के बारे में नियमित रूप से अपडेट पोस्ट करते थे, सिद्दीकी की ओर से कहा गया,

"जब लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई तो इन वीडियो में से कई को पर्सनल क्रिएटर्स ने स्थायी रूप से हटा दिया। साथ ही इस नोटिस को संबोधित करके आपके मुवक्किल ने स्पष्ट कर दिया है कि मेरे मुवक्किल ने विशेष रूप से कथित मानहानि के लिए ज़िम्मेदार हैं।"

जवाब में आगे कहा गया है,

"आपके क्लाइंट ने एक प्रभावशाली राजनेता का साक्षात्कार करने के बाद गंभीर प्रतिक्रिया का सामना किया है, जिससे हजारों लोगों ने विभिन्न यू-ट्यूब वीडियो और वेबसाइटों पर आपके क्लाइंट के खिलाफ व्यक्तिगत टिप्पणी की है। आश्चर्यजनक रूप से आपके क्लाइंट ने उस पर कोई कार्रवाई नहीं की है; हालांकि उन्होंने चुनिंदा रूप से उनकी मानहानि का आरोप सहन करने के लिए मुझे चुना है।

अंत में, सिद्दीकी ने नोटिस को वापस लेने की मांग करते हुए कहा कि यह एक त्रुटिपूर्ण आधार पर भेजा गया नोटिस है और अक्षय कुमार को ने इसमें कानूनी कार्रवाई की धमकी दी है।

"आपके क्लाइंट का 500 करोड़ रुपये का दावा एक प्रचार के अलावा कुछ भी नहीं है और 500 करोड़ रुपये के हर्जाने की मांग बेतुकी है और अनुचित हैं और मेरे मुवक्किल पर दबाव बनाने के इरादे से यह किया गया है। "

रिप्लाई डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें



Next Story