Top
Begin typing your search above and press return to search.
ताजा खबरें

प्रेग्नेंसी की मेडिकल टर्मिनेशन की ऊपरी सीमा 24 सप्ताह तक बढ़ाई गईः एमटीपी एक्ट संशोधन लागू हुआ

LiveLaw News Network
26 Sep 2021 11:00 AM GMT
प्रेग्नेंसी की मेडिकल टर्मिनेशन की ऊपरी सीमा 24 सप्ताह तक बढ़ाई गईः एमटीपी एक्ट संशोधन लागू हुआ
x

24 सितंबर 2021 से मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्नेंसी (संशोधन) अधिनियम, 2021 लागू हो गया है।

एमटीपी नियमों में परिभाषित कुछ श्रेणियों की महिलाओं के लिए यह संशोधन अन्य बातों के साथ-साथ मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्नेंसी एक्ट की धारा 3 को संशोधित करता है, जो गर्भावस्था के मेडिकल टर्मिनेशन की ऊपरी सीमा को वर्तमान 20 सप्ताह से बढ़ाकर 24 सप्ताह कर रहा है। इन कैटेगरी में रेप पीड़िताओं सहित 'कमजोर महिलाएं' शामिल होंगी।

संशोधन विधेयक इस साल 16 मार्च को संसद द्वारा पारित किया गया था। विधेयक के साथ संलग्न किए गए उद्देश्यों और कारणों के विवरण में इस प्रकार कहा गया हैः ''समय बीतने और सुरक्षित गर्भपात के लिए चिकित्सा प्रौद्योगिकी की प्रगति के साथ, विशेष रूप से कमजोर महिलाओं और गर्भावस्था में देर से पता चलने वाले पर्याप्त भ्रूण विसंगतियों के मामले में गर्भधारण को समाप्त करने के लिए ऊपरी गर्भकालीन सीमा को बढ़ाने की गुंजाइश है। इसके अलावा, असुरक्षित गर्भपात और इसकी जटिलताओं के कारण होने वाली मातृ मृत्यु दर और रुग्णता को कम करने के लिए कानूनी और सुरक्षित गर्भपात सेवा तक महिलाओं की पहुंच बढ़ाने की भी आवश्यकता है।''

संशोधन द्वारा किए गए कुछ बदलाव निम्नलिखित हैंः

धारा 3 बताती है कि पंजीकृत चिकित्सक द्वारा गर्भधारण कब समाप्त किया जा सकता है। हालांकि, धारा 4 स्पष्ट करती है कि इस अधिनियम के अनुसार निम्नलिखित किसी भी स्थान के अलावा अन्य स्थान पर गर्भावस्था की समाप्ति नहीं की जाएगी - (ए) सरकार द्वारा स्थापित या बनाए गए अस्पताल, या (बी) सरकार द्वारा इस अधिनियम के उद्देश्य के तहत एक निश्चित अवधि के लिए अनुमोदित स्थान। इन शर्त के अधीन, एक पंजीकृत चिकित्सक द्वारा गर्भावस्था को समाप्त किया जा सकता है,

(ए) जहां गर्भावस्था की अवधि बीस सप्ताह से अधिक नहीं है, यदि ऐसा चिकित्सक है, या

(बी) जहां गर्भावस्था की अवधि बीस सप्ताह से अधिक है, लेकिन महिला की ऐसी श्रेणी के मामले में चैबीस सप्ताह से अधिक नहीं है, जैसा कि इस अधिनियम के तहत बनाए गए नियमों द्वारा निर्धारित किया जा सकता है,

यदि कम से कम दो पंजीकृत चिकित्सकों की राय में सद्भावपूर्वक गठित किया गया है, कि-

(1) गर्भावस्था को जारी रखने से गर्भवती महिला के जीवन को खतरा होगा या उसके शारीरिक या मानसिक स्वास्थ्य को गंभीर चोट लगेगी; या

(2) इस बात का पर्याप्त जोखिम है कि यदि बच्चा पैदा होता है, तो वह किसी गंभीर शारीरिक या मानसिक असामान्यता से पीड़ित होगा।

स्पष्टीकरण 1.-खंड (ए) के प्रयोजनों के लिए, जहां किसी भी महिला या उसके साथी द्वारा बच्चों की संख्या को सीमित करने या गर्भावस्था को रोकने के उद्देश्य से इस्तेमाल किए गए किसी उपकरण या विधि की विफलता के परिणामस्वरूप कोई गर्भावस्था होती है, तो ऐसी गर्भावस्था से होने वाली पीड़ा को गर्भवती महिला के मानसिक स्वास्थ्य के लिए गंभीर चोट का गठन माना जाएगा।

स्पष्टीकरण 2- खंड (ए) और (बी) के प्रयोजनों के लिए, जहां गर्भवती महिला द्वारा किसी भी गर्भावस्था को बलात्कार के कारण होने का आरोप लगाया जाता है, तो ऐसी गर्भावस्था के कारण होने वाली पीड़ा को गर्भवती महिला के मानसिक स्वास्थ्य के लिए गंभीर चोट का गठन माना जाएगा।

चिकित्सक की राय

संशोधन के अनुसार, 20 सप्ताह तक की गर्भावस्था को समाप्त करने के लिए एक डॉक्टर की राय की आवश्यकता होगी; और 20 से 24 सप्ताह के गर्भ को समाप्त करने के लिए दो डॉक्टरों की राय की आवश्यकता होगी। उनका यह विचार होना चाहिए कि गर्भावस्था को जारी रखने से गर्भवती महिला के जीवन को खतरा होगा या उसके शारीरिक या मानसिक स्वास्थ्य को गंभीर चोट लग सकती है; या यह इस बात का पर्याप्त जोखिम है कि यदि बच्चा पैदा होता है, तो वह किसी गंभीर शारीरिक या मानसिक असामान्यता से पीड़ित होगा।

मेडिकल बोर्ड

मेडिकल बोर्ड में (1) एक स्त्री रोग विशेषज्ञ, (2) एक बाल रोग विशेषज्ञ, (3) एक रेडियोलॉजिस्ट या सोनोलॉजिस्ट, और (4) अन्य सदस्य शामिल होंगे, जैसा कि राज्य सरकार द्वारा निर्दिष्ट किया जा सकता है। उनके कार्य और अन्य विवरण बाद में एमटीपी नियमों द्वारा निर्धारित किए जाएंगे।

पहचान की गोपनीयता

उस महिला का नाम और अन्य विवरण, जिसका गर्भ समाप्त किया गया है, किसी भी कानून में अधिकृत व्यक्ति को छोड़कर (जो लागू है) प्रकट नहीं किया जाएगा; और इस प्रावधान का उल्लंघन करने वाले किसी भी व्यक्ति को कारावास से दंडित किया जाएगा जो एक वर्ष तक बढ़ाया जा सकता है, या जुर्माना या दोनों से दंडित किया जा सकता है।

एमटीपी संशोधन अधिनियम पढ़ने/डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें


अधिसूचना पढ़ने/डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें



Next Story