Top
ताजा खबरें

CJI गोगोई के पहले दिन सख्त तेवर, कहा कोई मर रहा हो, किसी का घर गिराया जा रहा हो, तभी होगी केसों की मेंशनिंग

LiveLaw News Network
3 Oct 2018 3:27 PM GMT
CJI गोगोई के पहले दिन सख्त तेवर, कहा कोई मर रहा हो, किसी का घर गिराया जा रहा हो, तभी होगी केसों की मेंशनिंग
x

देश के नए मुख्य न्यायाधीश का पद संभालने के बाद सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस रंजन गोगोई के सख्त तेवर दिखाई दिए।

बुधवार सुबह मेंशनिंग के वक्त एक वकील ने बधाई दी तो उन्होंने कहा कि ये यहां नहीं हो सकता। काम शुरू करते हैं। इसके बाद उन्होंने साफ किया कि  मामलों की जल्द सुनवाई की मेंशनिंग उन्हीं मामलों में होगी जो जरूरी हैं। अगर किसी को फांसी हो रही हो, घर टूट रहा हो या खाली हो रहा हो, ऐसे ही मामलों की जल्द सुनवाई करने के लिए मेंशनिंग की जा सकती है।

CJI गोगोई ने कहा कि ऐसे मामलों के लिए जल्द मानक भी तैयार होंगे।

शाम को सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के स्वागत समारोह में अध्यक्ष विकास सिंह ने ये मुद्दा उठाया तो CJI गोगोई ने कहा कि वो जैसे हैं, वैसे ही रहेंगे, वो खुद को बदल नहीं सकते। हालांकि उन्होंने कहा कि वो अपने साथी जजों के साथ मिलकर ऐसा सिस्टम बना रहे हैं जिसमें मेंशनिंग की परंपरा खुद ही खत्म हो जाएगी। वो ऐसा सिस्टम तैयार कर रहे हैं कि जरूरी केस खुद ही लिस्ट हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि वो केसों की लंबितता और जजों की नियुक्तियों को लेकर भी काम कर रहे हैं।

वहीं अटार्नी जनरल के के वेणुगोपाल ने जजों के वेतन, उम्र और सुप्रीम कोर्ट की भीड़भाड़ का हवाला दिया।

 वहीं पहले ही दिन CJI गोगोई ने जजों का रोस्टर भी जारी किया। इसके तहत  चीफ जस्टिस ही लैटर पेटिशन या जनहित याचिकाओं पर सुनवाई करेंगे। रोस्टर के मुताबिक दूसरे नंबर के जज जस्टिस मदन बी लोकुर CJI द्वारा आवंटित PIL पर सुनवाई करेंगे।

Next Story