Top
Begin typing your search above and press return to search.
ताजा खबरें

सीबीआई ने ओडिसा हाईकोर्ट के पूर्व जज के खिलाफ FIR की, गलती से वर्तमान जज के घर मारा छापा

LiveLaw News Network
21 Sep 2017 5:00 AM GMT
सीबीआई ने ओडिसा हाईकोर्ट के पूर्व जज के खिलाफ FIR की, गलती से वर्तमान जज के घर मारा छापा
x

सीबीआई ने ओडिसा हाईकोर्ट के पूर्व जज आई एम कुदुसी के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया है। ये FIR प्रिवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट 1988 और IPC की धारा 120 B के तहत साजिश रचने के तहत दर्ज किया गया है।

FIR के मुताबिक कुदुसी ने भावना पांडेय के साथ मिलकर लखनऊ के प्रसाद इंस्टीटयूट ऑफ मेडिकल साइंस के मामले को सैटल करने की साजिश रची। ये उन 46 कालेज में से एक था जिस पर सरकार ने रोक लगा दी थी। इन कालेजों पर सरकार ने एक या दो साल के लिए मेडिकल सीटों पर दाखिले करने पर रोक लगा दी थी क्योंकि इनमें सुविधाएं मानक के अनुरूप नहीं थी और ये तय मापदंडों को पूरा नहीं करते थे।

FIR में बताया गया है कि मेडिकल इंस्टीटयूट का प्रबंधन संभालने वाले बीपी यादव कुदुसी और पांडेय के संपर्क में आए और फिर मामले को सैटल करने के लिए साजिश रची गई। कुदुसी ने उन्हें राय दी कि इस रोक के खिलाफ दाखिल अर्जी को वो सुप्रीम कोर्ट से वापस ले लें और इलाहाबाद हाईकोर्ट में दाखिल करें इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सरकार के रोक के फैसले पर अंतरिम रोक लगा दी।

जब मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया इस मामले में फैसले को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंचा तो कुदुसी और पांडेय ने यादव को भरोसा दिलाया कि वो अपने संपर्कों के माध्यम से सुप्रीम कोर्ट में भी मामले को सैटल करा देंगे।

FIR के मुताबिक उन्होंने इस मामले में बिश्वनाथ अग्रवाला से संपर्क किया जो संबंधित वरिष्ठ पदाधिकारियों से नजदीकी रिश्ते होने का दावा करते हैं। उन्होंने भी भरोसा दिया कि मामले को उनके पक्ष में सैटल कराया जाएगा। इसकी एवज में अग्रवाला ने मोटी रकम घूस के तौर पर मांगी और इसी साजिश के तहत वो जल्द ही घूस देने के लिए दिल्ली में मीटिंग करने वाले थे।

इसी के चलते कुदुसी भावना पांडेय, यादव और अग्रवाला के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। बीपी यादव के साथ कॉलेज का काम संभालने वाले पलाश यादव और साजिशकर्ताओं के बीच मीटिंग कराने वाले सुधीर गिरी के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है। गिरी वैंकेटश्वरा ग्रुप ऑफ इंस्टीटयूशन्स का फाउंडर है।

सीबीआई ने गलती से वर्तमान हाईकोर्ट जज के घर रेड की

सीबीआई ने पूर्व जज के खिलाफ केस दर्ज करने के बाद गलती से हाईकोर्ट के वर्तमान जज जस्टिस सी आर दास के घर रेड कर दी। वहीं ओडिसा हाईकोर्ट बार एसोसिएशन ने इसका कडा विरोध करते हुए काम बंद करने का प्रस्ताव किया है।

एसोसिएशन ने दोपहर एक बजे आमसभा में प्रस्ताव पास किया कि ये मामला गंभीर चिंता का विषय है जिस तरह गैरकानूनी और अमानवीय तरीके से जस्टिस सीआर दास के घर बाधा डाली गई। सभी वकील एक दिन के लिए काम नहीं करेंगे। इसके अलावा गुरुवार को 1.30 बजे बैठक कर तय होगा कि भविष्य में क्या कदम उठाए जाएं। एसोसिएशन ने ये भी तय किया है कि इस कार्रवाई की न्यायिक जांच की मांग लेकर ओडिसा हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस विनीत सरन के पास भी जाएंगे।

Next Story