Top
Begin typing your search above and press return to search.
ताजा खबरें

जब चीफ जस्टिस ने पूछा, ये 'बिग बॉस ' क्या है ? स्वामी ओम पर दस लाख का जुर्माना

LiveLaw News Network
24 Aug 2017 2:21 PM GMT
जब चीफ जस्टिस ने पूछा, ये बिग बॉस  क्या है ? स्वामी ओम पर दस लाख का जुर्माना
x

बिग बॉस से चर्चित हुए स्वामी ओम ने गुरुवार को चीफ जस्टिस खेहर की बेंच के सामने करीब सवा घंटे तक बहस की। आखिर में सुप्रीम कोर्ट ने स्वामी ओम और उसके सहयोगी मुकेश जैन पर 10-10 लाख रुपये का जुर्माना लगा दिया।

सुप्रीम कोर्ट ने 10-10 लाख रुपये एक महीने के भीतर प्रधानमंत्री राहत कोष में जमा कराने के आदेश दिए। कोर्ट ने कहा है। एक महीने के बाद फिर मामले की सुनवाई करेंगे।

हालांकि स्वामी ओम ने कहा मेरे पास तो 10 रुपये भी नहीं है। जिसपर चीफ जस्टिस ने कहा कि जो अपने 34 करोड़ अनुयायी बताये थे वो 1-1 रुपया भी देंगे तो आप जुर्माना आसानी से भर देंगे।

दरअसल स्वामी ओम ने याचिका में कहा था कि हाई कोर्ट और सुप्रीम में जजो की नियुक्ति करते समय CJI से राय क्यों ली जाती है ? इसी पर चीफ जस्टिस खेहर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड की बेंच के सामने ये केस आया तो कोर्ट ने कहा कि ये पब्लिसिटी स्टंट है।

लेकिन स्वामी ओम ने कहा कि वो ' बिग बॉस ' के जरिए पहले ही बहुत पब्लिसिटी पा चुके हैं। जस्टिस खेहर ने पहले जस्टिस चंद्रचूड से पूछा और इसके बाद कोर्ट मास्टर ने खडे होकर उन्हें बताया कि ' बिग बॉस ' क्या है।

इस दौरान चीफ जस्टिस ने ओम से पूछा कि वो ये मुद्दा क्यों उठा रहे हैं क्योंकि उन पर तो कोई आरोप भी नहीं है। लेकिन ओम ने कहा कि वो उनके खिलाफ नहीं हैं। जब जस्टिस खेहर के लिए भी पत्र भेजा गया था तो उन्होंने इसका विरोध किया था। इस दौरान ओम की बात पर चीफ जस्टिस खेहर ने कहा कि आप कोर्ट की दुरुपयोग कर रहे हैं और ये अच्छी बात नहीं है। हम आपको इसके लिए सजा दे सकते हैं।

वहीं जस्टिस चंद्रचूड ने कहा कि 25 साल मेहनत के बाद कोई सुप्रीम कोर्ट पहुंचता है और जीवन में इतने बलिदान करता है। आप इस तरह किसी पर कैसे आरोप लगा सकते हैं।

Next Story