Top
Begin typing your search above and press return to search.
मुख्य सुर्खियां

'यदि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया जाता है तो वर्चुअल सुनवाई में वापस जाएंगे': जस्टिस गौतम पटेल

LiveLaw News Network
18 Feb 2021 7:03 AM GMT
यदि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया जाता है तो वर्चुअल सुनवाई में वापस जाएंगे: जस्टिस गौतम पटेल
x

बॉम्बे हाईकोर्ट के जस्टिस गौतम पटेल ने (बुधवार) कोर्टरूम में भीड़भाड़ को लेकर चिंता जताई। जस्टिस पटेल ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर कोविड-19 के सुरक्षा मानदंडों का पालन नहीं किया जाएगा, तो फिजिकल (भौतिक सामाजिक दूरी) सुनवाई को निलंबित कर देंगे और वर्चुअल सुनवाई में वापस चले जाएंगे।

हाईकोर्ट के वेबसाइट पर प्रकाशित नोटिस में लिखा है कि,

"कोर्ट रूम नबंर 37 में बहुत अधिक भीड़भाड़ है। अधिवक्ता और पक्षकार सुरक्षा मानदंडों और सावधानियों का पालन नहीं कर रहे हैं। इस कारण से, अब केवल उन लोगों को ही न्यायालय में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी, जिनका न्यायालय में मामला चल रहा है। इसके साथ ही जांच भी की जाएगी। जिनके मामले नहीं चल रहे होंगे, उन्हें कोर्ट से बाहर जाने के लिए कहा जाएगा।"

बॉम्बे हाई कोर्ट ने 1 दिसंबर, 2020 को फिजिकल सुनवाई फिर से शुरू की, जबकि अधीनस्थ अदालतों ने 1 फरवरी को पूरी क्षमता के साथ फिर से शुरू किया।

न्यायमूर्ति पटेल ने उन मामलों को विभाजित किया है जो वे बैचों में सुनेंग। इसके साथ ही प्रत्येक बैच को एक समय स्लॉट किया जाएगा। नोटिस में कहा गया है कि अधिवक्ता और वादकारियों को अपने समय स्लॉट का पालन करना चाहिए। नोटिस को पढ़ते हुए कहते हैं कि, "यह एक कारण के लिए है, जो स्पष्ट होना चाहिए। अगली बार स्लॉट में अधिवक्ताओं को समय से पहले अदालत में नहीं आना है।"

न्यायाधीश ने आगे कहा कि अगर अधिवक्ता और पक्षकार इन सरल निर्देशों का पालन करने से इनकार करते हैं, तो अदालत को वर्चुअल सुनवाई पर वापस जाने के लिए विवश किया जाएगा।

नोटिस में लिखा है कि,

"अगर इन न्यूनतम एहतियाती उपायों को नहीं देखा जाता है, तो अदालत तुरंत सभी फिजिकल सुनवाई को निलंबित कर देगी और सभी मामलों में ऑनलाइन सुनवाई पर वापस लौट जाएगी। अदालत तुरंत सभी शारीरिक सुनवाई को निलंबित कर देगी और सभी मामलों में ऑनलाइन सुनवाई पर वापस लौट जाएगी।"

उच्च न्यायालय ने अप्रैल 2020 में फिजिकल सुनवाई को निलंबित कर दिया था और Covid -19 महामारी के चलते वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग (वर्चुअल सुनवाई) के माध्यम से तत्काल मामलों के लिए सुनवाई शुरू कर दी थी।

बाद में वर्चुअल और फिजिकल, दोनों तरह की सुनवाई का संयोजन शुरू किया गया। 1 दिसंबर, 2020 को उच्च न्यायालय ने अधिकांश मामलों के लिए फिजिकल सुनवाई फिर से शुरू की। वर्तमान में, उच्च न्यायालय परिसर में सभी न्यायालय पूरी क्षमता पर कार्य कर रहे हैं और सभी मामलों की सुनवाई सोमवार से गुरुवार तक फिजिकल सुनवाई के माध्यम से काम कर रहे हैं।

शुक्रवार को कुछ अदालतें उन मामलों के लिए वर्चुअल सुनवाई करती हैं जहां वकील या पक्ष मुंबई में नहीं होते हैं, या यदि वे विशेष रूप से वर्चुअल सुनवाई के लिए अनुरोध करते हैं।

नोटिस की कॉपी यहां पढ़ें:



Next Story