Top
Begin typing your search above and press return to search.
मुख्य सुर्खियां

उन्नाव केस : दिल्ली की अदालत ने कुलदीप सेंगर को बलात्कार पीड़िता के पिता की मौत के मामले में 10 साल की सज़ा सुनाई

LiveLaw News Network
13 March 2020 7:04 AM GMT
उन्नाव केस :  दिल्ली की अदालत ने कुलदीप सेंगर को बलात्कार पीड़िता के पिता की मौत के मामले में 10 साल की सज़ा सुनाई
x

दिल्ली की एक अदालत ने शुक्रवार को भाजपा के पूर्व नेता कुलदीप सिंह सेंगर सहित सभी दोषियों को उन्नाव बलात्कार पीड़िता के पिता की मौत का ज़िम्मेदार मानते हुए दस साल के कारावास की सजा सुनाई।

सेंगर जो वर्तमान में तिहाड़ जेल में बलात्कार मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहा है, उसे और उसके भाई अतुल सेंगर को भी पीड़ित परिवार को मुआवजे के रूप में 10-10 लाख रुपये देने को कहा गया है।

तीस हजारी कोर्ट के जिला जज धर्मेश शर्मा ने पिछले हफ्ते सेंगर को छह अन्य लोगों के साथ सदोष मानव वध का दोषी करार दिया था।

अदालत ने पाया कि सेंगर ने पीड़िता के पिता को मारने का इरादा नहीं किया था। हालांकि, उसे इतनी बेरहमी से पीटा गया कि उसने दम तोड़ दिया।

बलात्कार पीड़िता के पिता को अवैध हथियार मामले में कथित रूप से फंसाया गया और 3 अप्रैल, 2018 को गिरफ्तार कर लिया गया। 9 अप्रैल, 2018 को कुछ दिनों बाद न्यायिक हिरासत में उनकी मृत्यु हो गई। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर यूपी से केस दिल्ली ट्रांसफर होने के बाद मामले में सुनवाई में तेज़ी आई। मामले में चार आरोपियों को बरी कर दिया गया है।

उन्नाव रेप केस टाइमलाइन: भयावह घटनाओं का खुलासा कैसे हुआ?

कुलदीप सेंगर को पहले ही बलात्कार के मामले में दोषी पाया गया और 20 दिसंबर, 2019 को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई। सजा का आदेश जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा द्वारा भी पारित किया गया था, जिन्होंने स्पष्ट किया था कि आजीवन कारावास का अर्थ "शेष जैविक जीवन तक कारावास होगा।

सेंगर को सड़क दुर्घटना के पीछे कथित आपराधिक साजिश के लिए एक और मुकदमे का भी सामना करना पड़ रहा है, जिसके परिणामस्वरूप बलात्कार पीड़िता की दो चाची की हत्या हो गई और उसके वकील को गंभीर चोट आई। यह घटना पिछले साल 29 जुलाई को रायबरेली के पास घटी थी, जब उनकी कार में एक ट्रक घुस गया था।

Next Story