Top
Begin typing your search above and press return to search.
मुख्य सुर्खियां

टीएमसी नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा, तुषार मेहता को सॉलिसिटर जनरल के पद से हटाने की मांग की

LiveLaw News Network
2 July 2021 9:48 AM GMT
टीएमसी नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा, तुषार मेहता को सॉलिसिटर जनरल के पद से हटाने की मांग की
x

अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर भारत के सॉलिसिटर जनरल के पद से तुषार मेहता को हटाने की मांग की है। दरअसल, तुषार मेहता पर नारद मामले और सारदा चिट फंड घोटाला मामले में आरोपी भाजपा नेता सुवेंदु अधिकारी के साथ उनकी मुलाकात का आरोप लगाया गया है। सीबीआई और ईडी इसकी जांच कर रही है।

टीएमसी नेता डेरेक ओ'ब्रायन, सुखेंदु शेखर रॉय और महुआ मोइत्रा ने पत्र लिखा है।

पत्र में लिखा गया है कि,

"भारत का सॉलिसिटर जनरल भारत के महान्यायवादी के बाद देश का दूसरा सबसे बड़ा कानून अधिकारी है और भारत सरकार और उसके विभिन्न अंगों को नारद और शारदा मामलों जैसे महत्वपूर्ण कानूनी मामलों में सलाह देता है। एक आरोपी के बीच इस तरह की बैठक गंभीर रूप से ऐसी जांच एजेंसियों को सलाह देने वाले सॉलिसिटर जनरल के साथ, जिनके द्वारा उक्त आरोपी की जांच की जा रही है, भारत के सॉलिसिटर जनरल के वैधानिक कर्तव्यों के साथ सीधे हितों के टकराव में है।"

नेताओं ने सुवेंदु अधिकारी और एसजीआई तुषार मेहता के बीच बैठक पर सवाल उठाते हुए सोशल मीडिया की प्रमुख लोगों द्वारा प्रसारित विभिन्न समाचार रिपोर्टों और ट्वीट्स पर भरोसा किया है।

पत्र में लिखा गया है कि,

"हमारे पास यह मानने के कारण हैं कि इस तरह की बैठक उन मामलों के परिणाम को प्रभावित करने के लिए आयोजित की गई है जहां सुवेंदु अधिकारी एक आरोपी हैं, जो सॉलिसिटर जनरल के उच्च पद का उपयोग कर रहे हैं।"

पत्र में इसके अलावा यह लिखा गया है कि,

"हम कहते हैं कि सुवेंदु अधिकारी को श्रोताओं का अवसर प्रदान करने के लिए सॉलिसिटर जनरल का कार्य न केवल अनुचितता को दर्शाता है बल्कि सत्यनिष्ठा का प्रश्न भी उठाता है और सॉलिसिटर जनरल के पद को कलंकित करता है।"

पत्र में आगे लिखा गया है कि,

"भारत के सॉलिसिटर जनरल के कार्यालय की सत्यनिष्ठा और तटस्थता के रूप में लोगों के मन में किसी भी तरह का संदेह न पैदा हो इसके लिए तुषार मेहता को भारत के सॉलिसिटर जनरल के पद से हटाने के लिए आवश्यक कदम उठाने की मांग कर रहे हैं।"





Next Story