Top
Begin typing your search above and press return to search.
मुख्य सुर्खियां

पिछले पांच साल में दिल्ली में 1,294 नाबालिगों ने आत्महत्या की : दिल्ली पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट को बताया 

LiveLaw News Network
6 Jan 2020 10:02 AM GMT
पिछले पांच साल में दिल्ली में 1,294 नाबालिगों ने आत्महत्या की : दिल्ली पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट को बताया 
x

पिछले पांच वर्षों में राजधानी में कुल 1,294 नाबालिगों ने आत्महत्या की है। दिल्ली पुलिस ने देश में आत्महत्याओं की घटनाओं की रोकथाम के लिए एक सार्वजनिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के प्रभावी कार्यान्वयन की मांग करने वाली याचिका के जवाब में सुप्रीम कोर्ट को सूचित किया है।

शीर्ष अदालत में दायर एक हलफनामे में पुलिस ने कहा है कि वह मानसिक स्वास्थ्य अधिनियम, 2017 के जनादेश का सही तरीके से पालन कर रहा है।

पुलिस ने कहा है कि उसने दिल्ली में आत्महत्याओं के संबंध में आंकड़ों को इकट्ठा किया है और पिछले पांच वर्षों में 18 वर्ष से कम आयु के 1,294 लोगों की आत्महत्या की सूचना मिली है।

वर्ष-वार आंकड़े देते हुए दिल्ली पुलिस ने कहा कि 2014-188, 2015-211, 2016-227, 2017-242, 2018-277 और 2019-14 में आत्महत्या से 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों की मौत हुई। हालांकि, 15 सितंबर, 2019 तक पिछले पांच वर्षों में दिल्ली में 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों द्वारा आत्महत्या के प्रयास का कोई मामला सामने नहीं आया है।

ये हलफनामा दिल्ली पुलिस ने वकील गौरव कुमार बंसल की याचिका के जवाब में दायर किया है जिन्होंने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को निर्देश मांगा है कि वो कॉल सेंटरों के माध्यम से सहायता और सलाह प्रदान करने के लिए एक परियोजना शुरू करें और आत्मघाती विचारों वाले व्यक्तियों को मदद करें।

न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष यह याचिका 24 जनवरी को सुनवाई के लिए आने की संभावना है। पीठ ने पिछले साल इस याचिका पर केंद्र और सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से जवाब मांगा था।

" दिल्ली पुलिस (मेंटल हेल्थकेयर) अधिनियम के तहत अपने कर्तव्यों में सतर्कता बरत रही है। पुलिस ने मानसिक स्वास्थ्य देखभाल के मुद्दों के लिए जांच अधिकारियों की संवेदनशीलता और जागरूकता के लिए दिल्ली न्यायिक अकादमी द्वारा आयोजित उन्मुखीकरण कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए जांच अधिकारियों को नामित किया है।" दिल्ली पुलिस ने अपने हलफनामे में कहा है।

Next Story