Top
मुख्य सुर्खियां

दूध के निजी उपयोग के लिए किसी व्यक्ति को गाय पालने से वंचित नहीं किया जा सकता : राजस्थान हाईकोर्ट ने राज्य को नोटिस दिया

LiveLaw News Network
17 May 2020 1:57 AM GMT
दूध के निजी उपयोग के लिए किसी व्यक्ति को गाय पालने से वंचित नहीं किया जा सकता : राजस्थान हाईकोर्ट ने राज्य को नोटिस दिया
x

राजस्थान हाईकोर्ट ने शुक्रवार को जोर दिया कि किसी व्यक्ति को अपने आवास में एक या दो गायों को दूध के निजी उपयोग के लिए रखने की "भारतीय परंपरा" का पालन करने से वंचित नहीं किया जा सकता है।

राधेश्याम नामक व्यक्ति द्वारा दायर एक याचिका में यह टिप्पणी की गई है जिसने आरोप लगाया था कि निजी उपयोग के लिए अपने आवास में गाय रखने के लिए स्थानीय नगरपालिका अधिकारियों द्वारा डेयरी फार्म / गौशाला चलाने के रूप में व्यवहार किया जा रहा था

याचिका उनके आवास के बिजली और पानी के कनेक्शन की बहाली के लिए इस आधार पर दायर की गई थी कि गाय को व्यक्तिगत उपयोग के लिए रखने के लिए गौशाला बनाना आवश्यक नहीं है।

न्यायालय की भी प्रथम दृष्टया राय थी कि यदि कोई भी नागरिक अपने व्यक्तिगत उपयोग के लिए अपने घर में गाय या भैंस या कोई अन्य पालतू पशु / पशु रखता है, तो यह उसके निवास की बिजली और पानी के कनेक्शन को समाप्त करने का आधार नहीं हो सकता।

न्यायमूर्ति संजीव प्रकाश शर्मा की पीठ ने कहा,

"दूध के निजी उपयोग के लिए गाय रखना भारत में एक पुराना पारंपरिक तरीका रहा है और कोई भी व्यक्ति इस पुरानी परंपरा का पालन करने से वंचित नहीं किया जा सकता।

यह नहीं कहा जा सकता है कि घर पर एक या दो गाय रखना फार्म या गौशाला के अर्थ के भीतर मवेशी रखना होगा।"

अदालत ने इस प्रकार रिस्पॉन्डेन्ट अधिकारियों को याचिकाकर्ता के बिजली और पानी के कनेक्शन को फिर से जोड़ने के लिए एक अंतरिम निर्देश के साथ नोटिस जारी किया है।

आदेश की प्रति डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें



Next Story