Top
Begin typing your search above and press return to search.
मुख्य सुर्खियां

JGLS देश के शीर्ष 100-150 लॉ स्कूलों में शामिल

LiveLaw News Network
9 March 2020 3:00 AM GMT
JGLS देश के शीर्ष 100-150 लॉ स्कूलों में शामिल
x

जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल (JGLS) को देश के शीर्ष लॉ स्कूल का दर्जा मिला है। क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग्स की रिपोर्ट उसे यह दर्जा मिला है। JGLS 300 लॉ कॉलेजों के समूह में 100-150 के बीच रखा गया है। यह पहला मौक़ा है, जब भारत के किसी विश्वविद्यालय को क्यूएस की रैंकिंग में जगह मिली है।

इस उपलब्धि पर ख़ुशी जताते हुए JGU के संस्थापक वाइस चांसलर प्रो. राज कुमार ने कहा, "संस्था के लिए यह एक विशेष और अपूर्व उपलब्धि है कि हम इस इतिहास के गवाह बन रहे हैं कि जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल देश का शीर्ष लॉ स्कूल बनकर उभरा है और वह दुनिया के शीर्ष 101-150 स्कूलों में शामिल है।"

क्यूएस रैंकिंग्स को 2004 में शुरू किया गया और इस समय यह दुनिया का सबसे ज़्यादा पढ़ा जानेवाला यूनिवर्सिटी रैंकिंग है। इस बार की रैंकिंग में दुनिया भर के 1368 विश्वविद्यालयों को शामिल किया गया जिन्हें 83 देशों से चुना गया था और इसमें 48 विषयों को शामिल किया गया।

सभी विषयों में भारत से 165, अमेरिका से 441, यूके से 502 और चीन, जापान और दक्षिण कोरिया से संयुक्त रूप से 360 संस्थानों को इसमें शामिल किया गया था।

हार्वर्ड विश्वविद्यालय इस सूची में सबसे ऊपर है, इसके बाद यूनिवर्सिटी ऑफ़ ऑक्स्फ़र्ड, केम्ब्रिज, येल और स्टैन्फ़र्ड विश्वविद्यालय का स्थान है।

जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी ने 7 विषयों और सोशल साइंस और मैनेजमेंट एवं आर्ट्स एंड ह्यूमैनिटीज़ के वृहत्तर क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन किया। ये सात विषय हैं अर्थशास्त्र, विधि, राजनीति, सोशल पॉलिसी, समाजशास्त्र, आर्ट एंड डिज़ाइन और पर्फ़ॉर्मिंग आर्ट्स।

भारत सरकार ने जेजीयू को 'विशिष्ट संस्थान' (Institution of Eminence) का दर्जा दे रखा है। इस यूनिवर्सिटी की स्थापना 2009 में हुई।



Next Story