Top
Begin typing your search above and press return to search.
मुख्य सुर्खियां

दिल्ली सरकार ने दिल्ली में थोक शराब विक्रेताओं के कर्मचारियों के लिए आरोग्य सेतु ऐप का उपयोग अनिवार्य किया

LiveLaw News Network
1 Nov 2020 3:15 PM GMT
दिल्ली सरकार ने दिल्ली में थोक शराब विक्रेताओं के कर्मचारियों के लिए आरोग्य सेतु ऐप का उपयोग अनिवार्य किया
x

दिल्ली सरकार ने मंगलवार (27 अक्टूबर) को एक परिपत्र जारी कर राष्ट्रीय राजधानी में सभी थोक शराब विक्रेताओं को निर्देश दिया कि वे अपने कर्मचारियों द्वारा आरोग्य सेतु ऐप का अनिवार्य उपयोग सुनिश्चित करें।

परिपत्र में दिल्ली के थोक शराब विक्रेताओं (एल-आई/1,-1 एफ), एक्साइज विभाग, जीएनसीटी के सभी लाइसेंसधारियों को COVID-19 उचित व्यवहार सुनिश्चित करने और नीचे दिए गये कार्य योजना का पालन करने का निर्देश दिया गया है:

• हर कार्यकर्ता द्वारा फेस मास्क पहनना अनिवार्य।

• परिसर में प्रवेश करने वाले प्रत्येक कार्यकर्ता की अनिवार्य थर्मल स्क्रीनिंग।

• प्रवेश और निकास बिंदुओं पर टच फ्री सैनिटाइजर डिस्पेंसर।

· हर कार्यकर्ता द्वारा आरोग्य सेतु ऐप का अनिवार्य उपयोग।

• पूरी इमारत का बार-बार स्वच्छताकरण विशेष रूप से आम टच पॉइंट जैसे सीढ़ी रेलिंग, दरवाजे के हैंडल आदि।

• स्टॉक की लोडिंग और अनलोडिंग के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग मानदंडों का कड़ाई से अनुपालन।

• बैनर का प्रदर्शन/COVID 19 के बारे में निवारक उपायों के अंदर के रूप में अच्छी तरह से इमारत के बाहर प्रमुख स्थान पर।

इसके अलावा सर्कुलर में सभी बॉन्ड इंस्पेक्टर्स (एल-1/एल-एलएफ) को उपरोक्त दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने और 3 दिनों के भीतर इसके संबंध में केपी सिंह [आयुक्त (आईएमएफएल)] को एक प्रमाण पत्र जमा करने का निर्देश दिया गया है ।

सीआईसी ने एमईआईटी, एनआईसी और नेड के सीपीआईओ को नोटिस जारी किया।

गौरतलब है कि केंद्रीय सूचना आयोग ने मंगलवार (27 अक्टूबर) को इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के केंद्रीय लोक सूचना अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया था, राष्ट्रीय सूचना केंद्र और राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस प्रभाग (एनईजीडी) कारण बताते हैं कि सूचना का अधिकार अधिनियम के 20 को प्रथम दृष्टया सूचना में बाधा डालने और आरोग्य सेतु ऐप से संबंधित आरटीआई आवेदन पर गोलमाल जवाब देने के लिए उन पर जुर्माना क्यों नहीं लगाया जाना चाहिए।

सीआईसी ने एनआईसी से यह भी बताने को कहा है कि जब आरोग्य सेतु वेबसाइट में यह उल्लेख किया गया है कि ऐप को डिजाइन, विकसित और होस्ट उसके द्वारा किया गया था, तो फिर ऐसा कैसे है कि उनके पास बनाने के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) ने बुधवार (21 अक्टूबर) को जारी अधिसूचना में बताया था कि विश्वविद्यालय के फिर से खुलने के बाद उसके सभी छात्रों और कर्मचारियों के लिए 'आरोग्य सेतु ऐप' अनिवार्य हो जाएगा।

हालांकि, बाद में जेएनयू प्रशासन ने उक्त अधिसूचना वापस ले ली।

सर्कुलर डाउनलोड करने के लिए यहांं क्लिक करेंं



Next Story