Top
Begin typing your search above and press return to search.
मुख्य सुर्खियां

चंद्रशेखर आज़ाद ने ज़मानत की शर्तों में संशोधन के लिए आवेदन किया, 21 जनवरी को अगली सुनवाई

LiveLaw News Network
18 Jan 2020 6:54 AM GMT
चंद्रशेखर आज़ाद ने ज़मानत की शर्तों में संशोधन के लिए आवेदन किया, 21 जनवरी को अगली सुनवाई
x

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आज़ाद ने तीस हजारी सेशन कोर्ट का रुख किया, जिसमें सीएए के विरोध प्रदर्शनों के दौरान हिंसा भड़काने से संबंधित मामले में उन्हें जमानत देते हुए उन पर लगाई गई शर्तों में संशोधन की मांग की गई है।

न्यायाधीश डॉ कामिनी लाऊ ने शनिवार को अभियोजन पक्ष को भारत के चुनाव आयोग से आज़ाद द्वारा प्रस्तुत दिल्ली के पते का सत्यापन करने के लिए कहा। इस मामले की अगली सुनवाई 21 जनवरी को होगी।

इसी सप्ताह अदालत ने जमानत देते हुए आजाद को चार सप्ताह के लिए यूपी के सहारनपुर में अपने मूल निवास स्थान पर रहने को कहा था। यह शर्त अदालत ने यह कहकर लगाई कि उसका दिया गया पता सहारनपुर में है।

न्यायालय ने यह भी माना था कि दिल्ली में आने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए ये शर्त लगाई गई है।

अधिवक्ता महमूद प्राचा और ओ पी भारती द्वारा दायर याचिका में कहा गया है कि आजाद एक अपराधी नहीं हैं और उसने दावा किया कि ऐसी शर्तें गलत और अलोकतांत्रिक हैं।

आवेदन में कहा गया है कि आजाद का दिल्ली में एक स्थानीय निवास है। एक सामाजिक कार्यकर्ता होने के नाते, इस शर्त पर कि उन्हें उपचार के अलावा चार सप्ताह तक दिल्ली नहीं जाना चाहिए, उनके मौलिक अधिकारों को प्रभावित करता है, आवेदन में कहा गया है।

न्यायाधीश कामिनी लाऊ ने 25 दिनों की हिरासत के बाद 15 जनवरी को आजाद को जमानत दे दी थी।

जज ने कहा था कि अभियोजन पक्ष ने प्रथम दृष्टया हिंसा में शामिल होने के लिए कोई भी सामग्री पेश नहीं की गई है।

9 जनवरी को, अदालत ने 15 अन्य व्यक्तियों को जमानत दी थी, जिन्हें उसी मामले में गिरफ्तार किया गया था।

Next Story