Top
Begin typing your search above and press return to search.
मुख्य सुर्खियां

असम में 800 लोगों को हिरासत केंद्रों में रखा गया है : गृह मंत्रालय

LiveLaw News Network
12 March 2020 3:15 AM GMT
असम में 800 लोगों को हिरासत केंद्रों में रखा गया है : गृह मंत्रालय
x

राज्यसभा में बुधवार को एक सवाल का जवाब देते हुए, गृह मंत्रालय के राज्य मंत्री, नित्यानंद राय ने खुलासा किया कि 6 मार्च, 2020 तक असम में कुल 802 लोगों को हिरासत केंद्रों में रखा गया है।

राय समाजवादीए पार्टी सांसद सुखराम सिंह यादव द्वारा उठाए गए सवाल का जवाब दे रहे थे। उन्होंने सरकार से असम में उन लोगों की संख्या के बारे में पूछा था जो अपनी नागरिकता साबित करने में विफल रहे हैं और हिरासत केंद्रों में रखे गए हैं।

लिखित उत्तर में राय ने कहा,

"माननीय सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशों के अनुसार समावेश की अनुपूरक सूची और ऑनलाइन परिवार-वार सूची की हार्ड-कॉपी 31 अगस्त, 2019 को प्रकाशित की गई थी। कुल 3,11,21,004 लोगों को अंतिम एनआरसी सूची में शामिल होने के योग्य पाया गया और 19,06,657 व्यक्ति इससे बाहर रहे। 06/03/2020 तक, असम में 802 व्यक्तियों को हिरासत केंद्रों में रखा गया है। "

नागरिकता साबित करने के बोझ और उसी के निर्वहन के लिए जिन दस्तावेजों पर विचार किया जाएगा, उनके बारे में भी काफी हंगामा हुआ है।

इस पृष्ठभूमि में सुखराम ने उन दस्तावेजों का विवरण मांगा था, जिन्हें सरकार किसी की नागरिकता साबित करने के लिए कानूनी रूप से वैध मानती है, जिसके लिए मंत्रालय ने यांत्रिक तरीके से जवाब दिया।

"भारतीय नागरिकता का अधिग्रहण नागरिकता अधिनियम, 1955 के प्रावधानों और उसके द्वारा बनाए गए नियमों के अनुसार होता है। भारत की नागरिकता को जन्म या वंश या पंजीकरण या प्राकृतिककरण या क्षेत्र के निगमन द्वारा प्राप्त किया जा सकता है।"



Next Story