Top
मुख्य सुर्खियां

फ्री कश्मीर प्लेकार्ड दिखाने के आरोपी के लिए 170 वकीलों ने वकालतनामा पर दस्तखत किए

LiveLaw News Network
20 Jan 2020 2:49 PM GMT
फ्री कश्मीर प्लेकार्ड दिखाने के आरोपी के लिए 170 वकीलों ने वकालतनामा पर दस्तखत किए
x

कर्नाटक राज्य के लगभग 170 अधिवक्ताओं ने नलिनी बालाकुमार के लिए वकालतनाम पर हस्ताक्षर किए हैं, जिन्हें आईपीसी की धारा 124 ए (राजद्रोह) के तहत राजद्रोह के आरोप में मामला दर्ज किया गया है। उसने कथित तौर पर मैसूर विश्वविद्यालय परिसर में 8 जनवरी को सीएए के विरोध के दौरान "फ्री कश्मीर प्लेकार्ड" पकड़ा हुआ था।

पिछले हफ्ते, मैसूर बार एसोसिएशन ने एक प्रस्ताव पारित किया था जिसमें कहा गया है कि उसका कोई भी सदस्य नलिनी का अदालत में प्रतिनिधित्व नहीं करेगा।

अखिल भारतीय अभिभाषक संघ के सचिव श्रीनिवास कुमार ने कहा, "मैसूर सहित विभिन्न जिलों के अधिवक्ताओं ने वकालतनामा पर हस्ताक्षर किए हैं। नलिनी की जमानत याचिका पर सुनवाई 24 जनवरी को जारी रहेगी, क्योंकि अभियोजन पक्ष बहस करने के लिए कुछ समय चाहता था।"

पीपुल्स वकीलों गिल्ड के अध्यक्ष, अधिवक्ता अनीस पाशा ने नलिनी के लिए स्थायी अग्रिम जमानत की मांग की। उनके द्वारा यह तर्क दिया गया था कि लगाए गए आरोप झूठे हैं और वह एक छात्रा हैं औरअगर अग्रिम ज़मानत दी गई तो उनके फरार होने की कोई संभावना नहीं है।,

वकील ने यह भी कहा कि यह मामला सरकार पर सवाल उठाने वालों पर देशद्रोह के आरोप लगाने के एक हालिया चलन का हिस्सा है। अदालत को इस बारे में सख्त विचार करना चाहिए और संबंधित पुलिस अधिकारियों और शिकायतकर्ता के खिलाफ कार्रवाई शुरू करनी चाहिए।

अदालत ने मामले पर सुनवाई 24 जनवरी के लिए स्थगित कर दी, क्योंकि अभियोजन पक्ष ने जवाब देने के लिए समय मांगा। हाल ही में अदालत ने नलिनी को अंतरिम जमानत दे दी है, उनकी अग्रिम जमानत अर्जी की अंतिम सुनवाई लंबित है।

Next Story