Top
Begin typing your search above and press return to search.
ताजा खबरें

सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने पांच हाईकोर्ट के लिए मुख्य न्यायाधीशों के नाम की सिफारिश की

LiveLaw News Network
17 Oct 2019 12:33 PM GMT
सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने पांच हाईकोर्ट के लिए मुख्य न्यायाधीशों के नाम की सिफारिश की
x

सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने मद्रास, मध्य प्रदेश, पटना, मेघालय और झारखंड के उच्च न्यायालयों में नए मुख्य न्यायाधीशों की नियुक्ति की सिफारिश की है।

पटना उच्च न्यायालय के वर्तमान मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति ए पी साही को मद्रास उच्च न्यायालय का मुख्य न्यायाधीश बनाने की सिफारिश की गई है। पूर्व मुख्य न्यायाधीश वी के ताहिलरमानी ने सितंबर में मेघालय उच्च न्यायालय में उन्हें स्थानांतरित करने के प्रस्ताव का विरोध करते हुए इस्तीफा दे दिया था।

न्यायमूर्ति ए के मित्तल, मेघालय हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के रूप में स्थानांतरित किये जाने की सिफारिश की गई है।

इससे पहले, कॉलेजियम ने जस्टिस अकिल कुरैशी के नाम की मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के लिए सिफारिश की थी। न्याय विभाग से संचार के बाद न्यायमूर्ति कुरैशी की त्रिपुरा हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के रूप में नियुक्त करने की सिफारिश की गई।

जस्टिस मित्तल को पहले जस्टिस ताहिलरमानी की जगह मद्रास हाईकोर्ट का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया जाना प्रस्तावित था। त्रिपुरा हाईकोर्ट के वर्तमान मुख्य न्यायाधीश, न्यायमूर्ति संजय करोल को पटना हाईकोर्ट का मुख्य न्यायाधीश बनाए जाने की सिफारिश की गई है।

मुख्य न्यायाधीशों के नाम की सिफारिश

कॉलेजियम ने मुख्य न्यायाधीश के रूप में दो उच्च न्यायालय के न्यायाधीशों के उन्नयन की भी सिफारिश की है।

वर्तमान में राजस्थान हाईकोर्ट के न्यायाधीश न्यायमूर्ति मोहम्मद रफीक को मेघालय उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के रूप में सिफारिश की गई है।

वर्तमान में पटना हाईकोर्ट के न्यायाधीश, न्यायमूर्ति डॉक्टर रवि रंजन को झारखंड हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बनाए जाने की सिफारिश की गई है। झारखंड हाईकोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति अनिरुद्ध बोस की सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में पिछले मई में नियुक्ति हुई थी। झारखंड हाईकोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश बनाए गए जस्टिस प्रशांत कुमार का 30 अगस्त को निधन हो गया था।

मुख्य न्यायाधीशों की सिफारिश की कॉपी डाउनलोड करें



Next Story