Top
Begin typing your search above and press return to search.
ताजा खबरें

न्यायमूर्ति मीनाक्षी मदन राय सिक्किम उच्च न्यायालय की कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश नियुक्त

LiveLaw News Network
14 Sep 2019 7:15 AM GMT
न्यायमूर्ति मीनाक्षी मदन राय सिक्किम उच्च न्यायालय की कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश नियुक्त
x

केंद्र ने सिक्किम उच्च न्यायालय की वरिष्ठतम न्यायाधीश, न्यायमूर्ति मीनाक्षी मदन राय की नियुक्ति, उच्च न्यायालय की कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश के रूप में नोटिफाई कर दी है। सिक्किम उच्च न्यायालय के वर्तमान मुख्य न्यायाधीश, न्यायमूर्ति विजय कुमार बिष्ट 16 सितंबर को सेवानिवृत्त होने वाले हैं और यह निर्णय उसी पर आधारित है।

जस्टिस मदन राय, वर्ष 1989 में कैंपस लॉ सेंटर, दिल्ली विश्वविद्यालय से एलएलबी की डिग्री हासिल करने के बाद, वर्ष 1990 में दिल्ली में एक वकील के रूप में एनरोल हुईं। वह सिक्किम की पहली महिला बनीं, जिन्हें गंगटोक में वर्ष 1990 में न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी-सिविल न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया। इसके पश्चात वर्ष 2000 में उन्हें मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट-सह-सिविल न्यायाधीश के पद पर पदोन्नत किया गया।

इसके बाद, वर्ष 2004 में, उन्हें गंगटोक में जिला और सत्र न्यायाधीश (विशेष प्रभाग) के रूप में पदोन्नत किया गया। इसके बाद, उसी वर्ष, वह सिक्किम उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार के रूप में तैनात हुईं और वर्ष 2006 में, उसी उच्च न्यायालय की रजिस्ट्रार जनरल के रूप में उनकी तैनाती हुई।

वर्ष 2008 में, उन्हें जिला और सत्र न्यायाधीश (विशेष प्रभाग) के अतिरिक्त प्रभार के साथ गंगटोक में जिला और सत्र न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया था। वर्ष 2009 में उन्हें फिर से सिक्किम उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार जनरल का प्रभार दिया गया। वर्ष 2010 में, उन्हें नामची में जिला और सत्र न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया था और वर्ष 2012 में उसी पद पर उन्हें गंगटोक स्थानांतरित कर दिया गया था। वर्ष 2013 में, उन्हें गंगटोक में प्रधान जिला और सत्र न्यायाधीश के रूप में नामित किया गया था और वर्ष 2015 में उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत किया गया था, और इस प्रकार सिक्किम राज्य से इस पद पर पहुंचने वाली वह पहली महिला बनीं।

वह वर्ष 2005 और 2010 के बीच सिक्किम राज्य विधि सेवा प्राधिकरण में सदस्य सचिव, और वर्ष 2007 और 2009 के बीच उच्च न्यायालय विधि सेवा समिति की सचिव भी रह चुकी हैं।



Next Story