Begin typing your search above and press return to search.
ताजा खबरें

मेरे कार्यकाल की कोई भी उपलब्धि सामूहिक निर्णय का परिणाम है और श्रेय हम सभी को जाना चाहिए: सीजेआई रमना

Sharafat
12 May 2022 9:56 AM GMT
मेरे कार्यकाल की कोई भी उपलब्धि सामूहिक निर्णय का परिणाम है और श्रेय हम सभी को जाना चाहिए: सीजेआई रमना
x

भारत के मुख्य न्यायाधीश एनवी रमना ने मंगलवार को सेवानिवृत्त न्यायाधीश जस्टिस विनीत सरन के लिए आयोजित विदाई समारोह में बोलते हुए कहा, "सीजेआई के रूप में मेरे कार्यकाल के दौरान हमें जो भी उपलब्धि मिली है, वह एक सामूहिक निर्णय का परिणाम है और इसका श्रेय हम सभी को जाना चाहिए, न कि केवल कुछ व्यक्तियों को।"

सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन (SCBA) की ओर से मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट के नए एडिशनल बिल्डिंग के ऑडिटोरियम में जस्टिस विनीत सरन के लिए विदाई समारोह का आयोजन किया गया। पहली बार एससीबीए द्वारा आयोजित विदाई समारोह मैन ऑडिटोरियम में आयोजित किया गया।

इसके लिए अनुमति तब दी गई थी जब एससीबीए ने हाल ही में ऑडिटोरियम के उपयोग के संबंध में बार सदस्यों पर लगाई गई शर्तों के प्रति चिंता व्यक्त की थी और सुप्रीम कोर्ट के लॉन में विदाई आयोजित करने का निर्णय लिया था।

विदाई समारोह में एससीबीए की कार्यकारी समिति के सदस्यों ने एसोसिएशन को ऑडिटोरियम का उपयोग करने की अनुमति देने के लिए चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया को धन्यवाद दिया।

भारत के मुख्य न्यायाधीश ने हालांकि इसका श्रेय लेने से इनकार किया और इसके बजाय जस्टिस यूयू ललित, जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़, जस्टिस सूर्यकांत, जस्टिस बीआर गवई और जस्टिस संजीव खन्ना की न्यायाधीशों की समिति को उनके प्रयास के लिए धन्यवाद दिया।

सीजेआई ने कहा कि उन्होंने बार की मांगों को समिति को सौंपा और उन्होंने कड़ी मेहनत की और अंततः समस्या का समाधान किया।

विदाई समारोह के दौरान सीनियर एडवोकेट विकास सिंह ने बार सदस्यों को ऑडिटोरियम का उपयोग करने और उन्हें यह महसूस कराने के लिए कि वे इस संस्थान के समान हितधारक हैं, सीजेआई को धन्यवाद दिया।

सिंह के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए सीजेआई ने अपने संबोधन के दौरान कहा कि " वह सही हैं, हम समान भागीदार हैं लेकिन कुछ प्रतिबंध होने चाहिए जो मुझे यकीन है कि वह समझेंगे।"

Next Story