Top
Begin typing your search above and press return to search.
ताजा खबरें

छत्तीसगढ़ अश्लील सीडी कांड : सुप्रीम कोर्ट ने मुख्यमंत्री बघेल के खिलाफ ट्रायल पर रोक लगाई, CBI ने केस दिल्ली ट्रांसफर करने की मांग की

LiveLaw News Network
21 Oct 2019 6:51 AM GMT
छत्तीसगढ़ अश्लील सीडी कांड : सुप्रीम कोर्ट ने मुख्यमंत्री बघेल के खिलाफ ट्रायल पर रोक लगाई, CBI ने केस दिल्ली ट्रांसफर करने की मांग की
x

सुप्रीम कोर्ट ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के कथित रूप से अश्लील सीडी घोटाले के मामले में छत्तीसगढ़ की निचली अदालत में चल रहे ट्रायल पर रोक लगा दी है। पीठ ने मामले की जांच कर रही सीबीआई की ट्रांसफर याचिका पर मुख्यमंत्री व अन्य को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है । सीबीआई ने मुकदमे को दिल्ली ट्रांसफर करने का अनुरोध किया है।

सोमवार को सीबीआई की ओर से पेश सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई, जस्टिस एस ए बोबडे और जस्टिस एस अब्दुल नजीर की पीठ को बताया कि आरोपी के सीएम बनने से पहले चार्जशीट दायर की गई थी और वह मुख्य आरोपियों में से एक हैं।

इस मामले के दो गवाहों को धमकी दी जा रही है और राज्य पुलिस उनके खिलाफ मामले दर्ज कर रही है, इसलिए सीबीआई चाहती है कि मुकदमे को दिल्ली स्थानांतरित कर दिया जाए।

सीबीआई की चार्जशीट

गौरतलब है कि पिछले साल सितंबर में सीबीआई ने मामले में रायपुर की एक विशेष अदालत में चार्जशीट दायर की थी, जिसमें बघेल, विनोद वर्मा और तीन अन्य को आरोपी बनाया गया था।जांच के दौरान, एक और आरोपी रिंकू खनूजा ने इस साल जून में कथित रूप से आत्महत्या कर ली थी।

सभी आरोपियों पर आईपीसी की धारा 469 (प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाने के लिए जालसाजी), 471 ( जाली दस्तावेज को वास्तविक के रूप में इस्तेमाल करना), 120 बी (आपराधिक साजिश) और आईटी अधिनियम की 67 ए (जो कोई भी झूठी जानकारी प्रकाशित करता है या प्रसारित करता है या प्रकाशित करने का कारण बनता है) के तहत दर्ज किया गया था।

हालांकि वर्मा और बघेल ने सीडी की तैयारी या प्रचलन में शामिल होने से इनकार किया था। बघेल ने शुरू में जमानत के लिए आवेदन करने से इनकार कर दिया था और कुछ दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में रहे। कांग्रेस नेता, जिन्होंने कहा था कि उन्हें इस मामले में झूठा फंसाया गया था, को बाद में अदालत से जमानत मिल गई।

यह था मामला

27 अक्टूबर 2017 को कथित अश्लील सीडी का मामला सामने आया था, जिसके बाद राजनीति गरमा गई थी। छत्तीगसढ़ में भाजपा सरकार के एक कद्दावर मंत्री की कथित अश्लील सीडी सामने आई थी। तब भाजपा सरकार ने सीबीआई जांच का एलान किया था। इसके बाद सीबीआई ने जांच शुरू की थी। सीडी कांड में वर्तमान मुख्यमंत्री और तब पीसीसी अध्यक्ष रहे भूपेश बघेल के राजनीतिक सलाहकार विनोद वर्मा की गिरफ्तारी हुई थी।

Next Story