Top
Begin typing your search above and press return to search.
ताजा खबरें

बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट : सुप्रीम कोर्ट ने भूमि अधिग्रहण के खिलाफ किसानों की याचिकाओं पर नोटिस जारी किया

LiveLaw News Network
17 Jan 2020 5:01 PM GMT
बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट : सुप्रीम कोर्ट ने भूमि अधिग्रहण के खिलाफ किसानों की याचिकाओं पर नोटिस जारी किया
x

सुप्रीम कोर्ट की जस्टिस दीपक गुप्ता और जस्टिस अनिरुद्ध बोस की बेंच ने शुक्रवार को नेशनल हाई स्पीड रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (NHSRC) और गुजरात और केंद्र सरकारों को मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए भूमि अधिग्रहण के खिलाफ याचिकाओं पर नोटिस जारी किया।

भारत की पहली बुलेट ट्रेन के लिए किसानों ने भूमि अधिग्रहण के खिलाफ शीर्ष अदालत का दरवाज़ा खटखटाया। बुलेट ट्रेन के 508 किमी लंबा ट्रैक बनाने की योजना है। पीठ ने आज अधिकारियों से जवाब मांगा और उन्हेंअपना रुख साफ करने को कहा गया।

किसानों की दलील है कि भूमि अधिग्रहण गैरकानूनी है। यह मामला गुजरात हाईकोर्ट में लगाया गया था, लेकिन खारिज कर दिया गया था। गुजरात हाईकोर्ट ने बुलेट ट्रेन से संबंधित मुंबई-अहमदाबाद हाईस्पीड रेल परियोजना के लिए भूमि अधिग्रहण को चुनौती देने वाली संबंधित किसानों की रिट याचिकाएं खारिज कर दीं।

इस परियोजना के लिए काम इस साल मार्च के आसपास शुरू होने वाला है, सभी औपचारिकताओं के बाद, भूमि अधिग्रहण और अन्य प्रक्रियाओं का ध्यान रखा गया है। हालाँकि, इस मामले को अब अदालत अगली सुनवाई 20 मार्च को करेगी।

हाई स्पीड बुलेट ट्रेन 2023 तक पूरी होने वाली है और इस पर लगभग 1.08 लाख करोड़ रुपए खर्च हो सकते हैं।

Next Story