Top
Begin typing your search above and press return to search.
ताजा खबरें

चिन्मयानंद के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोप : SC ने SIT जांच के आदेश दिए, इलाहाबाद HC करेगा निगरानी

LiveLaw News Network
2 Sep 2019 3:54 PM GMT
चिन्मयानंद के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोप : SC ने SIT जांच के आदेश दिए, इलाहाबाद HC करेगा निगरानी
x

भाजपा नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों के बाद लापता हुई LLM की छात्रा के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम ( SIT) के गठन के निर्देश दिए हैं।

सोमवार को सुनवाई करते हुए जस्टिस आर बानुमति और जस्टिस ए एस बोपन्ना की पीठ ने दिशा- निर्देश जारी करते हुए कहा कि SIT की अगुवाई IGP स्तर के पुलिस अफसर करेंगे और टीम दोनों FIR की जांच करेगी।

पीठ ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश से कहा है कि वो इस केस की निगरानी के लिए HC की एक बेंच का गठन करे। पीठ ने कहा कि उसने छात्रा से बात की है और वो उसी कॉलेज में पढ़ाई जारी रखना नहीं चाहती।उसने संस्थान के खिलाफ कुछ शिकायत भी की है।

पीठ ने यूपी सरकार को कहा है कि वो छात्रा और उसके भाई के लिए बरेली विश्वविद्यालय से संबंधित किसी संस्थान में पढ़ाई करने का इस्तेमाल करे। पीठ ने बुधवार को पीठ को इसकी सूचना देने को कहा है।

पीठ ने कहा कि छात्रा 12 सितंबर तक दिल्ली में रहेगी। अदालत ने दिल्ली पुलिस से कहा है कि वो बुधवार तक छात्रा के मां-पिता को सुरक्षा दे और वो इस दौरान वापस जाएंगे। पीठ ने साफ कर दिया कि वो इस मामले की निगरानी नहीं करेगी।

दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की शुक्रवार को देर रात तक सुनवाई की थी। दोनों जजों ने अलग से अकेले में उससे बात की थी। उसे यूपी पुलिस ने दोस्तों के साथ राजस्थान में तलाश लिया था।

इस मामले को वकील शोभा गुप्ता, सुमिता हजारिका, मोनिका गोसाईं और शोमोना खन्ना की टीम द्वारा किया गया। उन्होंने CJI को पत्र लिखकर यह अनुरोध किया था और सुप्रीम कोर्ट ने इस पर संज्ञान लिया था।

यह मामला उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर की LLM की छात्रा से जुड़ा है जिसने पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता स्वामी चिन्मयानंद पर उसका और कई लड़कियों का यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है। फेसबुक लाइव वीडियो में आरोप लगाने के बाद वह लापता हो गई थी।

आरोपी भाजपा नेता उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में स्वामी शुकदेवानंद लॉ कॉलेज का निदेशक है, जहां लापता शिकायतकर्ता युवती LLM की छात्रा है। नेता से उसके और उसके परिवार के जीवन के लिए खतरा बताते हुए शिकायतकर्ता ने पिछले हफ्ते शुक्रवार को फेसबुक पर एक लाइव वीडियो पोस्ट किया था जिसमें आरोप लगाया गया था कि चिन्मयानंद ने "कई लड़कियों के जीवन को नष्ट कर दिया है।"

उसने इस संबंध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मदद मांगी। "संत समाज का एक बड़ा नेता, जिसने कई लड़कियों के जीवन को नष्ट कर दिया है, मुझे जान से मारने की धमकी दे रहा है। मेरे पास उसके खिलाफ सभी सबूत हैं। मैं मोदी जी और योगी जी से अनुरोध करती हूं कि कृपया मेरी मदद करें, " उसने खुलासा किया।

उसने कहा, "जब कोई भी लड़की उनके खिलाफ कार्रवाई करने की कोशिश करती है तो वह उन्हें हत्या की धमकी देता है, दावा करता है कि कानून के सभी हिस्सों के साथ उसके संबंध हैं।"हालांकि वीडियो वायरल होने के तीन दिन बाद लड़की लापता हो गई। उसके पिता ने आरोप लगाया है कि यह लापता होने का मामला नहीं बल्कि अपहरण का है और उन्होंने चिन्मयानंद के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराई। बाद में पुलिस ने अपहरण और धमकी देने का मामला दर्ज कर लिया है।



Next Story