Top
Begin typing your search above and press return to search.
साक्षात्कार

भारत की कानूनी बिरादरी तकनीकी अपनाने में संकोची है, हिदायतुल्ला नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो वीसी विवेकानंदन का विशेष साक्षात्कार

LiveLaw News Network
15 Oct 2020 3:30 AM GMT
भारत की कानूनी बिरादरी तकनीकी अपनाने में संकोची है, हिदायतुल्ला नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो वीसी विवेकानंदन का विशेष साक्षात्कार
x

हिदायतुल्ला नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो वीसी विवेकानंदन का विशेष साक्षात्कार।

1. यह कहना सही होगा कि COVID 19 परिदृश्य तक तकनीक को अपनाने में कानूनी बिरादरी ने बहुत रुचि नहीं दिखाई है?

यह एक तथ्य है कि भारत में कानूनी बिरादरी, COVID तक इंजीनियरिंग और चिकित्सा पेशेवरों के विपरीत प्रौद्योगिकी अपनाने में या तो संकोची रही है या अवहेलना करती रही है। हो सकता है कि एक मजबूत धारणा यह हो कि प्रौद्योगिकी द्वंद्वात्मक विमर्श में अप्रासंगिक है। COVID ने डिफ़ॉल्ट रूप से इस तरह के रवैये को बदलने के लिए मजबूर किया है और COVID परिदृश्य में डिजिटल डिलीवरी को कानूनी शिक्षा और वकालत में एक महत्वपूर्ण सेवा माध्‍यम माना जाता है। इस मोड को अपनाने में ब्लॉक में पहले देश भर के लॉ स्कूल हैं। विशेष रूप से, इस डिजिटल मोड ने न्यायपालिका के कई दिग्गजों को यात्रा और संबंधित प्रोटोकॉल के अवरोध के बिना भाग लेने की सुविधा प्रदान की है। मिश्रित शिक्षा स्‍थायी रूप से रहने और अधिक प्रगति करने के लिए है। संक्षेप में, कानूनी बिरादरी पिछले कुछ महीनों से इस पिछड़े क्षेत्र में अच्छा कर रही है।

2. आपको क्या लगता है कि CLAT 2020 के संदर्भ में कंसोर्टियम ने तर्कसंगत रूप से लॉकडाउन के साथ तालमेल किया?

बिल्कुल। COVID के प्रकोप के कारण प्रारंभिक स्थगन की आवश्यकता हुई। 28 सितंबर का लक्ष्य राज्य में एकाएक हुए लॉकडाउन को ठीक करने के लिए तय किया गया था और CLAT को अधिक व्यवहार्य बनाने के लिए जेईई और एनईईटी परीक्षा के Do's और Don'ts को समझने के लिए भी। लेकिन एनएलएस द्वारा अपने भाग्य को आजमाने के लिए उठाए गए अप्रत्याशित एकतरफा कदम ने कंसोर्टियम के सदस्यों और बड़े लोगों को परेशन कर दिया। यह अभी भी एक अनसुलझा रहस्य है कि एनएलएस, जिसके पास सचिवालय था और सचिव ने सभी से अलग होने का निर्णय लिया क्योंकि जो कारण बताए गए थे वह असंबद्ध थे। कोर्ट रूम में वादी और प्रतिवादियों की कोरियोग्राफी वास्तव में आने वाले वर्षों में कानून में कैरियर बनाने के लिए अधिक अभ्यर्थ‌ियों को प्रेरित करेगी। जैसा कि मुद्दों को सुलझा लिया गया है, उम्मीद है कि भविष्य में CLAT सामाजिक-आर्थिक आयामों को संबोधित करने में खुद को और बेहतर बनाएगा। आशा यह भी है कि एनएलयू दिल्ली आने वाले वर्ष में इसे और अधिक जीवंत बनाने के लिए कंजॉर्टियम में शामिल हो।

3. 2020 के परिदृश्य में HNLU में आपने शैक्षणिक आकांक्षाओं के लिए क्या किया?

विश्वविद्यालय ने इस सेमेस्टर के अंत तक लगभग 30 शिक्षकों की भर्ती की योजना बनाई है और इसके साथ ही एडजंक्ट विजिटिंग प्रोफेसरों का सेवा लेने की भी योजना है। HNLU देश की पहली लॉ यूनिवर्सिटी है, जिसने सभी शिक्षकों को शैक्षणिक आयोजनों में भाग लेने के लिए तीन साल की ब्लॉक अवधि के लिए तीन लाख रुपए के संचयी व्यावसायिक विकास भत्ता (CPDA)को लागू करने वाला है, और शैक्षणिक सामग्री और आईटी टूल्स खरीद सकता है।

जनवरी 2021 में लॉन्च किए जाने वाले HNLU रिसर्च क्लस्टर्स में लॉ एंड पब्लिक पॉलिसी / लॉ और सोशल इंजीनियरिंग / लॉ एंड टेक्नोलॉजी / लॉ एंड बिजनेस और लॉ-लैंग्वेज और आर्ट्स के पांच क्लस्टर होंगे। श‌िक्षकों और छात्र स्वयंसेवकों के साथ काम करने वाले रिसर्च एसोसिएट्स के पास होने के लिए क्लस्टर को हब और स्पोक्‍स मॉडल के रूप में डिजाइन किया जाना है।

HNLU EXchange अकादमी (HEXA) बातचीत स्तर पर है, जो छात्रों और संकाय विनिमय कार्यक्रमों के लिए योजनाओं और प्रक्रियाओं को पूरा करेगी। एक वरिष्ठ श‌िक्षक की अध्यक्षता वाली अकादमी में पूर्णकालिक कर्मचारी होंगे और उनके पास एशियाई, अफ्रीकी, यूरोपीय, उत्तरी अमेरिकी और लैटिन अमेरिकी लॉ स्कूलों के साथ संबंध होंगे और 2021 से चालू होंगे।

4. छात्रों के सीखने के लिए HNLU द्वारा की गई वेब पहलों के बारे में आप हमें बता सकते हैं?

डिजिटल डिलीवरी मोड ने पिछले कुछ महीनों में कुछ नई संभावनाओं को खोला है। 'सुई जेनिस' नामक एक द्वि-साप्ताहिक फेकल्‍टी वेबिनार श्रृंखला पूरी हो गई है। दूसरे संस्करण में गैर-एचएनएलयू छात्रों के लिए एक सीमित सीट भी दी गई है। एक्स आर्का एक और वेब पहल है, जिसे कानून के विविध विषयों के वक्ताओं का उत्साहपूर्ण साथ मिला है। HNLU PRES को मीडिया डिविजन के रूप में लांच किया गया है, जिसे न केवल HNLU के योगदानकर्ताओं, बल्‍कि विश्वविद्यालय से बाहर के लोगों के प्रिंट और मल्टीमीडिया सामग्री के प्रसार के लिए शुरू किया गया। इन दोनों वेब प्लेटफार्मों को आने वाले सेमेस्टर में छात्र निकायों द्वारा प्रबंधित किया जाना है।

5. HNLU के लिए ALUMNI क्या मायने रखते हैं? और वे छात्रों को प्रेरित करने में कैसे योगदान देते हैं?

वास्तव में, HNLU का पूर्व छात्र आधार न्यायपालिका, कानूनी व्यवहार, सार्वजनिक नीति समूहों और यहां तक ​​कि राजनीतिक क्षेत्र में बहुत महत्वपूर्ण है। पूर्व छात्रों की सद्भावना को बढ़ाने और चैनलाइज करने के लिए, 'अल्मा मैटर्स…' नाम की एक वेब पहल ने HNLU के छात्रों और बाहर के छात्र समुदाय को बातचीत एक साथ लाया है। देश और विदेश की इकाइयों के साथ एक औपचारिक संरचित संघ का निर्माण का प्रयास है। आने वाले दिनों में इसे HNLU छात्र निकाय को हस्तांतरित किया जाएगा, जिसमें विश्वविद्यालय सहायक भूमिका निभाएगा।

6. लॉ स्कूल, स्टूडेंट को प्रैक्टिकल नॉलेज देने की कोशिशों में लगे हुए हैं। इस दिशा में HNLU के अलग प्रयास क्या हैं?

कानून अपनी संरचना और कार्य में व्यावहारिक है। कानूनी प्रक्रियाओं का परिक्षेत्र गर्भ से कब्र तक है और इस प्रकार के शासन परिसर को संरचित और विनियमित पाठ्यक्रम के जर‌िए उजागर नहीं किया जा सकता है। इसके अलावा, विभिन्न खंडों और समसामयिक घटनाक्रमों के लिए रुचि और जुनून को कैप्सूल पाठ्यक्रमों द्वारा पूरित किया जाना चाहिए। HNLU ने Lex Osmos प्लेटफ़ॉर्म लॉन्च किया है - जो कानूनी विशेषज्ञों, शिक्षाविदों, नीतिगत जीत और गैर-सरकारी संगठनों के डोमेन विशेषज्ञों द्वारा संचालित एकल क्रेडिट गैर-सीजीपीए पाठ्यक्रम प्रदान करता है। वर्तमान चरण में नॉन स्टेट एक्टर्स की संवैधानिक बाध्यताओं, ICT में IP, अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक मध्यस्थता और विदेशी निवेश कानूनों पर पाठ्यक्रम हैं।

इस वर्ष से सेमेस्टर पैटर्न में प्रस्तावित मास्टर प्रोग्राम में अतिरिक्त विशेषज्ञता है और इसमें शिक्षण सहयोगी के रूप में छात्रों को शामिल किया जाएगा और इसमें सिलेबस और एक्सपोज़र का पुनर्गठन किया जाएगा। पीएचडी कार्यक्रम में सुधार किया जा रहा है और आने वाले वर्ष में मजबूत किया जाना है।

7. उन सभी फ्रेशर छात्रों के लिए आपके क्या सुझाव हैं जो लॉ के प्रथम वर्ष में प्रवेश लेंगे?

दिलचस्प बात यह है कि HNLU कई मायनों में अद्वितीय हो सकता है, जो अपने छात्रों को सुविधाएं प्रदान कर रहा है, जो विस्तृत, हरा और सुरक्षित है और दूसरे साल के बाद से छात्रों को अलग कमरा दे रहा है। डाइनिंग स्पेस, स्पोर्ट्स सुविधाएं, फूड कोर्ट, एम्फीथिएटर, सिटी बस शटल, एक यूनिसेक्स सैलून, स्वास्थ्य देखभाल केंद्र, मूट कोर्ट क्लस्टर्स आदि कई सुविधाएं उपलब्ध हैं।

HNLU प्रमुख शैक्षणिक आयोजन HNMCC 30 लाख रुपये के परिव्यय के साथ आयोजित किया जाता है और 'Colossus'नामक कल्चरल/स्पोर्ट्स/ मॉडल UN इवेंट के लिए इतना ही बजट आउटसाइड क्‍लस रूप लर्निंग का मुख्य आकर्षण है। HNLU संभवत: देश का एकमात्र लॉ यूनिवर्सिटी है, जिसके पास राज्य सरकार द्वारा समर्थित राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय Moots और सम्मेलनों में भाग लेने के लिए हर साल 1 करोड़ रुपये का समर्पित बजट है।

संक्षेप में HNLU छात्रों के लिए सीखने और रहने के अनुभव का एक आदर्श मिश्रण है।

Next Story