Top
मुख्य सुर्खियां

सुप्रीम कोर्ट ने IGI एयरपोर्ट पर सभी वाहनों को सीएनजी में बदलने के एनजीटी के आदेश पर रोक लगाई [आर्डर पढ़े]

LiveLaw News Network
9 May 2018 5:31 AM GMT
सुप्रीम कोर्ट ने IGI एयरपोर्ट पर सभी वाहनों को सीएनजी में बदलने के एनजीटी के आदेश पर रोक लगाई [आर्डर पढ़े]
x

सुप्रीम कोर्ट ने इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर चल रहे सभी गैर-सीएनजी वाहनों को सीएनजी में बदलने के नेशनल ट्रिब्यूनल के  निर्देश पर रोक लगा दी है। फेडरेशन ऑफ इंडियन एयरलाइंस  ने एनजीटी द्वारा जारी इस निर्देश को चुनौती देते हुए शीर्ष अदालत में याचिका दाखिल की गई है।

फेडरेशन ने तर्क दिया कि एनजीटी आदेश में इस विशेष निर्देश के समर्थन में कोई चर्चा और कारण नहीं दिए गए हैं और हवाई अड्डे पर  विभिन्न प्रकार के वाहन तैनात हैं और उनमें से कई को सीएनजी में परिवर्तित नहीं किया जा सकता। इन दलीलों को ध्यान में रखते हुए पीठ ने नोटिस जारी किया और निर्णय के उस हिस्से पर रोक लगा दी।

एनजीटी आदेश में अन्य निर्देशों के अलावा नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल की अध्यक्ष पीठ ने इस प्रकार निर्देशित किया था: "हवाई अड्डे पर चलने वाली सभी कोच / बसों और अन्य वाहन सीएनजी होने चाहिए और उन्हें निर्धारित उत्सर्जन मानकों का पालन करना चाहिए। हवाई अड्डे पर आज से छह महीने के भीतर गैर-सीएनजी बसों / कोच या अन्य वाहन सीएनजी में परिवर्तित किए जाने चाहिए। "

आदेश पर 24 मई 2018 के भीतर अनुपालन की आवश्यकता थी। इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर विमानों के टेक ऑफ और लैंडिंग के कारण होने वाले ध्वनि प्रदूषण के खिलाफ विभिन्न राहत मांगने वाले कई आवेदनों पर एनजीटी ने कई निर्देश पारित किए थे।

 हालांकि ट्रिब्यूनल ने हवाईअड्डे पर लैंडिंग या रात का कर्फ्यू लगाने से इंकार कर दिया और टेक ऑफ और उतरने के दौरान एयरक्राफ्ट की वजह से आसपास के घरों में साउंड प्रूफिंग करने से इंकार करते हुए एयरपोर्ट के पास साउंड प्रूफ दीवार के निर्माण जैसे कुछ अन्य निर्देश जारी किए जिनमें  हवाई अड्डे की सीमा की दीवार के चारों ओर हरी बेल्ट प्रदान करना है। ट्रिब्यूनल ने अधिकारियों को उन सभी एयरलाइंस के लिए सलाह जारी करने का निर्देश दिया है जिनके एयरक्राफ्ट आईजीआई और घरेलू हवाईअड्डा  नई दिल्ली के रनवे पर उतरते हैं ताकि रनवे की लंबाई, हवा, और विशेष रूप से एयरक्राफ्ट के उतरने के समय शोर स्तर को कम करने के लिए अन्य परिचर परिस्थितियों में  रिवर्स जोर के 'निर्णय-आधारित' उपयोग को सुनिश्चित किया जा सके।


 

Next Story