जल्दी ही शऱाब की बोतलों पर ड्रंकन ड्राइविंंग के खिलाफ तस्वीर वाली चेतावनी हो सकती है

LiveLaw News Network

26 July 2017 4:10 PM GMT

  • Whatsapp
  • Linkedin
  • Whatsapp
  • Linkedin
  • Whatsapp
  • Linkedin
    • Whatsapp
    • Linkedin
    • Whatsapp
    • Linkedin
    • Whatsapp
    • Linkedin
  • जल्दी ही शऱाब की बोतलों पर ड्रंकन ड्राइविंंग के खिलाफ तस्वीर वाली चेतावनी हो सकती है

    ड्रंकन ड्राइविंग को रोकने के लिए जल्दी ही शराब की बोतलों पर तस्वीर वाली चेतावनी हो सकती है ताकि कस्टमर को इस बात की चेतावनी हो सके कि शराब पीकर गाड़ी चलाने का क्या खतरा हो सकता है।

    इस मामले में दिल्ली हाई कोर्ट में रोड सेफ्टी एक्सपर्ट और फाउंडर कम्युनिटी एगेंस्ट ड्रंकन ड्राइविंग (सीएडीडी) एक्टिविस्ट  प्रिंस सहगल की ओर से अर्जी दाखिल की गई है। याचिका में कहा गया है कि ड्रंकन ड्राइविंग को रोकने के लिए शराब की बोतलों पर तस्वीर होनी चाहिए कि इसके क्या दुष्परिणाम हो सकते हैं। इस मामले में हाल ही में कोर्ट ने एफएसएसएआई को कहा है कि वह इस याचिका पर विचार करे। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अंतर्गत एफएसएसएआई काम करती है।

    अदालत ने 10 मार्च को इस मामले में केंद्र, दिल्ली सरकरा और एफएसएसएआई से जवाब दाखिल करने को कहा था। कोर्ट के आदेश के बाद एफएसएसएआई ने इस मामले में ग्लोबल प्रैक्टिस को देखा और पता लगाया कि ड्रंकन ड्राइविंग को रोकने के लिए क्या उपाय किए गए हैं। उनके अधिकारी का कहना है कि इस ओर काम चल रहा है। अदालत ने याचिका पर सुनवाई के दौरान 18 मई को ये आदेश जारी करने से मना कर दिया था कि बोटल पर चेतावनी का साइज बढ़ाया जाए। लेकिन कोर्ट ने एफएसएसएआई से कहा था कि याचिका में उठाए गए सवालों पर विचार किया जाए।

    देश में 1लाख 46 हजार लोग हर सड़क हादसे में मरते हैं और एक लाख ड्रंकन ड्राइविंग के कारण मरते हैं। ड्रंकन ड्राइविंग 72 फीसदी सड़क पर होने वाली मौत के लिए जिम्मेदार है। याचिकाकर्ता ने ये भी कहा कि यूएसए, केन्या, साउथ अफ्रीका, थाइलैंड, जिमब्बावे, ताइवान, मेक्सिको, टर्की और अन्य देशों ने ड्रंकन ड्राइविंग से होने वाले हादसे में काफी कमी लगाई है।


    Next Story