Top
Begin typing your search above and press return to search.
ताजा खबरें

अगर पीड़ित के साथ समझौता धमकी और दबाव डालकर किया गया है तो बलात्कार का केस समाप्त नहीं किया जा सकता, पढ़िए सुप्रीम कोर्ट का फैसला

LiveLaw News Network
26 Oct 2019 6:07 AM GMT
अगर पीड़ित के साथ समझौता धमकी और दबाव डालकर किया गया है तो बलात्कार का केस समाप्त नहीं किया जा सकता, पढ़िए सुप्रीम कोर्ट का फैसला
x

सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात हाईएकोर्ट के आदेश को पलट दिया है, जिसमें बलात्कार के मामले को आरोपी और पीड़ित के बीच 'समझौता' दर्ज करके समाप्त कर दिया था।

लड़की ने प्राथमिकी दर्ज कराई थी, जिसमें आरोप लगाया गया था कि उसके प्रबंधक ने उसके साथ उसकी नग्न तस्वीर प्रकाशित करने की धमकी देकर उसके साथ बलात्कार किया था। आईपीसी की धारा 376, 499 और 506 (2) के तहत एफआईआर दर्ज की गई थी।

आरोपियों ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया और कहा कि इस केस के संबंध में उनके बीच एक लिखित समझौता हुआ। इस पर ध्यान देते हुए, उच्च न्यायालय ने एफआईआर को खारिज कर दिया और कहा कि एफआईआर में उल्लिखित आरोप और तथ्य अनुचित हैं और यह दुर्भावनापूर्ण लगाए गए हैं।

लड़की पहुंची सुप्रीम कोर्ट

इसके बाद पीड़ित ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और आरोप लगाया कि हाईकोर्ट ने जिस 'निपटान दस्तावेज' पर भरोसा किया था वह धमकी और जबरदस्ती के तहत प्राप्त किया गया था। पीठ ने देखा,

"हाईकोर्ट के आदेश की गड़बड़ी से यह स्पष्ट है कि उच्च न्यायालय ने दोनों पक्षों के बीच हुए समझौते से यह निष्कर्ष निकाला कि अपीलकर्ता के उत्तरदाता 2 के साथ शारीरिक संबंध सहमति से हुए थे। जब अपीलकर्ता का यह आरोप है कि इस तरह का दस्तावेज उसे धमकी देकर और दबाव डालकर ज़बरदस्ती के प्राप्त किया गया है तो यह जांच का विषय है।"

भारतीय साक्ष्य अधिनियम की धारा 114-ए का उल्लेख करते हुए, न्यायमूर्ति उदय उमेश ललित, न्यायमूर्ति इंदु मल्होत्रा और न्यायमूर्ति आर सुभाष रेड्डी की पीठ ने देखा:

"उपर्युक्त धारा का पठन यह स्पष्ट करता है कि, जहां अभियुक्त द्वारा संभोग सिद्ध हो जाता है और यह सवाल है कि क्या यह उस महिला की सहमति के बिना हुआ था जिसने बलात्कार का आरोप लगाया गया था और ऐसी महिला अदालत के समक्ष अपने साक्ष्य में कहती है कि उसने सहमति नहीं दी, अदालत मान लेगी कि उसने सहमति नहीं दी। "

फैसले की प्रति डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें




Next Story