Top
Begin typing your search above and press return to search.
ताजा खबरें

"चौकीदार चोर है" टिप्पणी पर सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी के खिलाफ अवमानना का मामला किया बंद

LiveLaw News Network
14 Nov 2019 6:37 AM GMT
चौकीदार चोर है टिप्पणी पर सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी के खिलाफ अवमानना का मामला किया बंद
x

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में 'चौकीदार चोर है' टिप्पणी के लिए अवमानना का मामला बंद कर दिया।

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई, जस्टिस एस के कौल और के एम जोसेफ की पीठ ने भाजपा नेता मीनाक्षी लेखी द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए राहुल गांधी द्वारा व्यक्त किए गए खेद के बाद इस मामले में आगे की कार्रवाई बंद कर दी। न्यायालय ने हालांकि "सावधानी" शब्द जोड़ते हुए कहा कि राहुल गांधी को अधिक सावधानी बरतनी चाहिए थी।

न्यायमूर्ति कौल ने कहा, "कोर्ट को राजनीतिक बयानबाज़ी में नहीं घसीटा जा सकता।"

अवमानना मामले की सुनवाई 14 दिसंबर, 2018 के फैसले के खिलाफ दायर समीक्षा याचिकाओं के साथ हुई, जिसमें राफेल सौदे में भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच के आदेश देने से इनकार कर दिया गया था।

10 अप्रैल को मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई, जस्टिस एस के कौल और के एम जोसेफ की पीठ ने 'द हिंदू' जैसे समाचार पत्रों द्वारा लीक किए गए दस्तावेजों की जांच के खिलाफ केंद्र की प्रारंभिक आपत्तियों को खारिज कर दिया था। अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल ने तर्क दिया था कि दस्तावेज प्राधिकरण के बिना प्राप्त किए गए थे और इसलिए आधिकारिक गोपनीयता अधिनियम का उल्लंघन किया गया। लेकिन पीठ ने प्रारंभिक आपत्ति को खारिज कर दिया, इस तर्क पर कि सबूत प्राप्त करने की अवैधता ने अदालत की कार्यवाही में इसकी स्वीकार्यता को प्रभावित नहीं किया।

चुनाव प्रचार में राहुल गांधी की टिप्पणी

राहुल गांधी ने चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर इशारा करते करते हुए 'चौकीदार चोर है' कहा था।

इसके बाद, भाजपा नेता मीनाक्षी लेखी ने अवमानना मामला दायर किया, जिसमें आरोप लगाया गया कि राहुल गांधी राजनीतिक प्रचार के लिए सुप्रीम कोर्ट के फैसले को घुमाकर पेश कर रहे हैं।

राहुल गांधी ने बाद में टिप्पणी के लिए अदालत से माफी मांगी और कहा कि यह टिप्पणी राजनीतिक चुनाव प्रचार के दौर में की गई थी।

Next Story