जजों की कमी के विरोध में उड़ीसा हाई कोर्ट बार एसोसिएशन के सदस्यों का 19 फरवरी तक अपने काम से अनुपस्थित रहने का निर्णय

जजों की कमी के विरोध में उड़ीसा हाई कोर्ट बार एसोसिएशन के सदस्यों का 19 फरवरी तक अपने काम से अनुपस्थित रहने का निर्णय

पिछले दिनों कर्नाटक हाई कोर्ट में न्यायिक रिक्तियों की बढ़ती संख्या के खिलाफ बेंगलुरु के कई वकील भूख हड़ताल पर चले गए थे और अब उड़ीसा हाई कोर्ट के बार एसोसिएशन ने जजों की नियुक्ति नहीं होने के खिलाफ 19 फरवरी तक काम पर नहीं जाने का फैसला किया है।

उड़ीसा हाई कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष श्रीकांत नायक ने कहा कि हाई कोर्ट में इस समय सिर्फ 16 जज हैं जबकि होना चाहिए 27 और अप्रैल 2017 के बाद से यहाँ कोई नियुक्ति नहीं हुई है।

सोमवार को एक प्रस्ताव पारित कर उड़ीसा हाई कोर्ट बार एसोसिएशन ने कहा कि वे काम पर नहीं आएँगे और 19 जनवरी को उनकी आम निकाय की बैठक होगी जिसमें भविष्य की रणनीति पर चर्चा होगी।

प्रस्ताव के बारे में कटक के सभी बार एसोसिएशन को बता दिया गया है और कहा गया है कि वे इस बारे में उचित प्रस्ताव पास करें।