SCBA ने दो प्रस्ताव पास किए, सारी जनहित याचिकाओं पर सुनवाई CJI या कॉलेजियम के जज ही करें

सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ जजों जस्टिस जे चेलामेश्वर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन बी लोकुर और जस्टिस कूरियन जोसफ द्वारा शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस कर चीफ जस्टिस पर पंसदीदा बेंच को महत्वपूर्ण मामलों की सुनवाई के आरोप के बाद सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन की एग्जीक्यूटिव कमेटी की आपातकालीन बैठक बुलाई गई।

शनिवार शाम करीब डेढ घंटे तक चली इस बैठक में दो प्रमुख प्रस्ताव पास किए गए। SCBA के अध्यक्ष विकास सिंह ने मीडिया को बताया कि प्रस्ताव में कहा गया है कि चार वरिष्ठ जजों द्वारा प्रेस कांफ्रेंस में उठाए गए मतभेद और अखबारों में छपी जानकारी गंभीर चिंता का विषय है। इसके लिए तुरंत सुप्रीम  कोर्ट  की फुल कोर्ट मीटिंग बुलाई जानी चाहिए।

दूसरा ये प्रस्ताव पास किया गया है कि सुप्रीम कोर्ट में दाखिल सभी जनहित याचिकाओं की सुनवाई या तो चीफ जस्टिस खुद करें या अगर उन्हें किसी दूसरी बेंच को देना है तो उन्हें सिर्फ कॉलेजियम में शामिल जजों को ही दिया जाए। बार ने ये आग्रह भी किया है कि 15 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट में सूचीबद्ध जनहित याचिकाओं को भी इसी आग्रह के तहत ट्रांसफर किया जाए।

Pic Courtesy : PTI

Got Something To Say:

Your email address will not be published. Required fields are marked *


*