Top

You Searched For "मानहानि"

कोई टिप्पणी सिर्फ इसलिए सत्य नहीं है क्योंकि वह छपी हुई है,न ही इस आधार पर झूठी हो सकती है क्योंकि वह आॅनलाइन है-बाॅम्बे हाईकोर्ट [आर्डर पढ़े]

'कोई टिप्पणी सिर्फ इसलिए सत्य नहीं है क्योंकि वह छपी हुई है,न ही इस आधार पर झूठी हो सकती है क्योंकि वह आॅनलाइन है-बाॅम्बे हाईकोर्ट [आर्डर पढ़े]

किसी पर निष्पक्ष टिप्पणी करना,जो न्यायोयित हो,कोई मानहानि नहीं है। इसे अगर अलग नजरिये से देखे तोः राजा के पास कपड़े नहीं है,यह कहना कोई मानहानि नहीं है। न ही यह मानहानि हो सकती है-जस्टिस जी.एस पटेल

8 May 2019 5:09 AM GMT