Download App
  • Download Livelaw Android App
  • Download Livelaw IOS App
Follow Us
समझिये कैसे IPC की धारा 77 एवं 78 के अंतर्गत न्यायिकतः एवं न्यायिक आदेश एवं निर्णय के अनुसरण में किये गए कार्य को साधारण अपवाद का लाभ मिलता हैं? [समझिये कैसे IPC की धारा 77 एवं 78 के अंतर्गत न्यायिकतः एवं न्यायिक आदेश एवं निर्णय के अनुसरण में किये गए कार्य को साधारण अपवाद का लाभ मिलता हैं? ['साधारण अपवाद श्रृंखला' 5]

पिछले लेख में हमने विस्तार से समझा कि आखिर क्षम्य (Excusable) कृत्य के अंतर्गत किन परिस्थितियों में मत्तता (Intoxication) के दौरान किये गए कृत्य (धारा 85-86) किसी भी अपराध के लिए कब अपवाद बन...

सुप्रीम कोर्ट ने समलैंगिगता को अपराध बताने वाले 157 साल पुराने कानून को रद्द किया, कहा LGBT को भी सामान्य नागरिक की तरह अधिकार [निर्णय पढ़ें]सुप्रीम कोर्ट ने समलैंगिगता को अपराध बताने वाले 157 साल पुराने कानून को रद्द किया, कहा LGBT को भी सामान्य नागरिक की तरह अधिकार [निर्णय पढ़ें]

एक ऐतिहासिक फैसले में सुप्रीम कोर्ट में पांच जजों की संविधान पीठ ने समलैंगिकता को भारतीय दंड संहिता ( IPC) की धारा 377 के तहत अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया। सुप्रीम कोर्ट में गुरुवार को करीब एक...

Share it
Top