Download App
  • Download Livelaw Android App
  • Download Livelaw IOS App
Subscribe
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को दिलाया याद, संपत्ति का अधिकार मौलिक अधिकार नहीं रहने के बावजूद अभी भी संवैधानिक अधिकार है [आर्डर पढ़े]इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को दिलाया याद, संपत्ति का अधिकार मौलिक अधिकार नहीं रहने के बावजूद अभी भी संवैधानिक अधिकार है [आर्डर पढ़े]

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार की इस बात के लिए आलोचना की है कि वह बिना किसी अधिग्रहण के और मुआवज़ा चुकाए लोगों की निजी ज़मीन ले रही है। न्यायमूर्ति शशि कांत गुप्ता और न्यायमूर्ति...

क्या कांग्रेस की न्याय योजना वोट के लिए रिश्वत है? इलाहाबाद हाईकोर्ट ने चुनाव आयोग से जवाब देने को कहा [आर्डर पढ़े]क्या कांग्रेस की 'न्याय' योजना वोट के लिए रिश्वत है? इलाहाबाद हाईकोर्ट ने चुनाव आयोग से जवाब देने को कहा [आर्डर पढ़े]

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कांग्रेस को उसकी न्याय योजना के ख़िलाफ़ दायर जनहित याचिका पर जवाब देने को कहा है। मोहित कुमार नामक एक वक़ील ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर कहा है कि कांग्रेस पार्टी का अपने...

न तो माँ-बाप और न ही कोई अन्य किसी बालिग़ लड़का और लड़की के साथ रहने में कोई हस्तक्षेप कर सकता है : इलाहाबाद हाईकोर्ट [आर्डर पढ़े]
न तो माँ-बाप और न ही कोई अन्य किसी बालिग़ लड़का और लड़की के साथ रहने में कोई हस्तक्षेप कर सकता है : इलाहाबाद हाईकोर्ट [आर्डर पढ़े]

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने हाल ही में कहा कि अगर लड़का और लड़की बालिग़ हैं और वे अपनी इच्छा से साथ रह रहे हैं तो उनके माँ-बाप सहित किसी को भी उनके साथ रहने में हस्तक्षेप का अधिकार नहीं है।न्यायमूर्ति कौशल...

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने पत्नी और बेटी की हत्या करनेवाले व्यक्ति की मौत की सजा को जायज ठहराया [आर्डर पढ़े]
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने पत्नी और बेटी की हत्या करनेवाले व्यक्ति की मौत की सजा को जायज ठहराया [आर्डर पढ़े]

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एक व्यक्ति की मौत की सजा को सही ठहराया है। इस व्यक्ति को अपनी पत्नी और 12 वर्षीय बेटी की हत्या का दोषी पाया गया है।सोवरन सिंह नामक इस व्यक्ति को निचली अदालत ने पत्नी ममता और...

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जमानत के लिए 10-दिन पहले सूचित करने के नियम को संशोधित कर इसे दो दिन किया
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जमानत के लिए 10-दिन पहले सूचित करने के नियम को संशोधित कर इसे दो दिन किया

अब उत्तर प्रदेश में गिरफ्तार किए गए किसी व्यक्ति को 10 दिनों तक जमानत के लिए इंतजार नहीं करना होगा। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जमानत के लिए 10-दिन वाले नियम को घटाकर अब उसे दो दिन कर दिया है। पहले किसी...

डॉक्टर का विकलांगता प्रमाणपत्र पढ़ने लायक नहीं होने पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने दी संभल जाने की चेतावनी, स्पष्टीकरण माँगा [आर्डर पढ़े]
डॉक्टर का विकलांगता प्रमाणपत्र पढ़ने लायक नहीं होने पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने दी संभल जाने की चेतावनी, स्पष्टीकरण माँगा [आर्डर पढ़े]

डॉक्टरों के हाथ की लिखाई का स्पष्ट नहीं होना आम लोगों के लिए हमेशा ही एक समस्या रही है और लोग सोचते रहे हैं क्यों डॉक्टरों के हाथ की लिखावट इतनी खराब होती है। पर कोई अदालत इस पर गौर करेगा और डॉक्टर...

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने "Stressed Asset" का मामला सुलझाने के लिए आरबीआई के संशोधित फ्रेमवर्क से निजी बिजली परियोजनाओं को राहत देने से मना किया [निर्णय पढ़ें]
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने "Stressed Asset" का मामला सुलझाने के लिए आरबीआई के संशोधित फ्रेमवर्क से निजी बिजली परियोजनाओं को राहत देने से मना किया [निर्णय पढ़ें]

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सोमवार को निजी बिजली परियोजनाओं को आरबीआई के सर्कुलर के तहत कोई भी राहत देने से मना कर दिया। आरबीआई ने यह सर्कुलर जारी कर ऋण लेने वालों को इसे लौटाने के लिए 180 दिनों का वक़्त...

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने लखनऊ के इंटीग्रल विश्वविद्यालय के दो प्रोफेसरों की पदावनति को खारिज किया; कहा, वीसी ने सभी तरह के नियमों का उल्लंघन किया [आर्डर पढ़े]
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने लखनऊ के इंटीग्रल विश्वविद्यालय के दो प्रोफेसरों की पदावनति को खारिज किया; कहा, वीसी ने सभी तरह के नियमों का उल्लंघन किया [आर्डर पढ़े]

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने लखनऊ के इंटीग्रल विश्वविद्यालय के दो प्रोफेसरों को पदावनति दिए जाने के निर्णय को निरस्त कर दिया और कहा कि वीसी ने इस मामले में सभी तरह के नियमों का उल्लंघन किया। न्यायमूर्ति...

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने UPPSC को उत्तर-पत्रों के पुनर्मूल्यांकन करने का आदेश अपने क्षेत्राधिकार से बाहर जाकर दिया : SC [निर्णय पढ़ें]
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने UPPSC को उत्तर-पत्रों के पुनर्मूल्यांकन करने का आदेश अपने क्षेत्राधिकार से बाहर जाकर दिया : SC [निर्णय पढ़ें]

सर्वोच्च न्यायालय ने गुरुवार को अकादमिक प्रकृति के मामलों में हस्तक्षेप करने के लिए संवैधानिक अदालतों की सीमा और शक्ति पर एक महत्वपूर्ण निर्णय दिया।न्यायमूर्ति यूयू ललित और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की...

Share it
Top