अयोध्या फैसले के बाद प्रधानमंत्री मोदी के CJI गोगोई को बधाई देने की बांग्लादेशी मीडिया की खबरों का भारत ने खंडन किया

अयोध्या फैसले के बाद प्रधानमंत्री मोदी के CJI गोगोई को बधाई देने की बांग्लादेशी मीडिया की खबरों का भारत ने खंडन किया

भारत ने बांग्लादेशी मीडिया की उस रिपोर्ट को " दुर्भावनापूर्ण "और" फर्जी " करार दिया है, जिसमें दावा किया गया है कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या के फैसले पर भारत के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई को बधाई दी थी।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने बुधवार को ट्वीट किया, "हम समुदायों को विभाजित करने के लिए ऐसी फर्जी और दुर्भावनापूर्ण ख़बरों को फैलाने के लिए जिम्मेदार लोगों की कड़ी निंदा करते है जो भारत और बांग्लादेश के लोगों के बीच असहमति और कमजोर दोस्ती पैदा करते हैं।"

भारतीय उच्चायोग ने भी किया बयान जारी

वहीं ढाका में भारतीय उच्चायोग ने भी एक बयान जारी किया है। उच्चायोग ने कहा है कि उच्चायोग के संज्ञान में आया है कि भारत के मुख्य न्यायाधीश को भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लिखा गया एक पत्र स्थानीय मीडिया में प्रसारित किया जा रहा है। "यह पत्र पूरी तरह से फर्जी और दुर्भावनापूर्ण है। इसका मकसद बांग्लादेश में लोगों को गुमराह करना और सामाजिक वैमनस्य पैदा करना है।

उच्चायोग ने कहा है कि यह उन लोगों की ओर से "सबसे कट्टरवादी" और "गलत" है जो सार्वजनिक डोमेन में भारत के बारे में गलतफहमी पैदा करने के लिए जानबूझकर फर्जी और गलत जानकारी प्रसारित कर रहे हैं।